माईक्रो एरिगेशन और ड्रिप सिंचाई पद्धति के प्रोजेक्ट बनायें - सांसद वी0डी0शर्मा

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक

Kkkन्यूज कटनी- खजुराहो संसदीय क्षेत्र के सांसद वी0डी0 शर्मा ने कहा कि बरगी की दायींतट नहर कटनी से होकर निकल रही है। नहर से कटनी जिले के कृषि क्षेत्रों और अन्य क्षेत्रों में माईक्रेा एरिगेशन तथा ड्रिप पद्धति से सिंचाई परियोजनाओं के प्रोजेक्ट तैयार करें। उन्होने कहा कि शासन की योजनाओं एवं कार्यक्रमों का प्रभावी क्रियान्वयन कर हर पात्र और जरुरतमंद हितग्राहियों को उसका लाभ पहुंचायें। जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में सांसद श्री शर्मा ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में भारत सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा की। इस मौके पर विधायक संदीप जायसवाल, प्रणय प्रभात पाण्डेय, महापौर शशांक श्रीवास्तव, जिला पंचायत अध्यक्ष ममता पटेल, कलेक्टर शशिभूषण सिंह, पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार, वन मण्डलाधिकारी, सीईओ जिला पंचायत जगदीश कुमार गोमे, सहित विभाग प्रमुख अधिकारी एवं समिति के सदस्य उपस्थित थे।दिशा की बैठक में सांसद श्री शर्मा ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, प्रधानमंत्री आवास शहरी एवं ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की 27 योजनाओं सहित आयुष्मान भारत की समीक्षा में सांसद श्री शर्मा ने कहा कि गरीबों के इलाज के लिये महत्वपूर्ण योजना में अधिकृत किये गये प्राईवेट अस्पतालों में मरीजों को दी जाने वाली उपचार और स्वास्थ्य सेवाओं की मॉनीटरिंग की जाये। आयुष्मान भारत में अब तक 351हितग्राहियों के उपचार की संख्या को न्यून बताते हुये सांसद ने कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को जागरुककरें ताकि वे इसका लाभ उठा सकें।प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना की समीक्षा में प्रभारी आयुक्त शैलेन्द्र शुक्ला ने बताया कि द्वितीय फेज के तहत प्रेमनगर खिरहनी में 2800 भवन, 205 करोड़ रुपये की योजना के तहत बनाये जा रहे हैं। इनमें 1744 ईडब्ल्यूएस और 1056 एलआईजी क्वार्टर हैं। प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण की समीक्षा में सीईओ जिला पंचायत ने बताया कि चालू वर्ष में जिले को 9 हजार 873 आवास बनाने का लक्ष्य मिला है। प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण के निर्माण और प्रगति के मामले में कटनी जिला प्रदेश में तीसरे स्थान पर है।राष्ट्रीय पेयजल कार्यक्रम के तहत कार्यपालन यंत्री ने बताया कि जिले में 10400 हैण्डपम्प स्थापित हैं, जिनमें 9599 हैण्डपम्प चालू और 801 बंद हैं। कुल 291 नलजल योजनाओं में 271 चालू हैं और 13 विभिन्न कारणों से बंद हैं। चालू वित्तीय वर्ष में 100 बसाहटों में नलकूप खनन का लक्ष्य है, जिनमें 21 की पूर्ति कर ली गई है। सांसद श्री शर्मा ने कहा कि जल संरक्षण और पानी रोकने की दिशा में भी प्रयास किये जाने की जरुरत हैं। इसी प्रकार वृक्षारोपण की कार्ययोजना को भी जमीनी स्तर पर क्रियान्वित किया जाना आवश्यक है।प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, किसान सम्मान निधि और किसान पेंशन योजना की तैयारियों की जानकारी लेते हुये सांसद ने कहा कि गांव-गांव के किसानों को फसल बीमा योजना की जानकारी देकर अंतिम तिथि 15 अगस्त तक अधिकाधिक किसानों को योजना का लाभ लेने प्रेरित करें। किसान सम्मान निधि योजना में संयुक्त कलेक्टर सपना त्रिपाठी ने बताया कि जिले के 40 हजार किसानों का पंजीयन अब तक किया जा चुका है।सांसद वी0डी0 शर्मा ने कटनी जिले में सभी छोटे-बड़े उद्योग ईकाईयों, बीमार और बंद इकाईयों की संख्या सहित सीएसआर मद से औद्योगिक प्रतिष्ठानों द्वारा अब तक किये गये कार्यों की जानकारी भी अगली बैठक में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। सिंचाई योजनाओं की समीक्षा करते हुये सांसद ने कहा कि क्षेत्र की उपयुक्तता के हिसाब से संभावित सिंचाई योजनाओं के प्रोजेक्ट तैयार करें। प्राथमिक शिक्षा की समीक्षा करते हुये सांसद ने अगली बैठक में प्राथमिक स्कूलों की संख्या, छात्र संख्या, शिक्षकों की उपलब्धता और भौतिक स्थिति की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिये। उन्होने कहा कि प्राथमिक शिक्षा को और भी मजबूत करने की जरुरत है।



Share To:

Post A Comment: