10 जून से 20 जुलाई तक चलेगा दस्तक अभियान


कटनी- बाल मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से दस्तक अभियान चलाया जायेगा। यहअभियान 10 जून से 20 जुलाई 2019 तक आयोजित किया जायेगा। जिसमें एएनएम, आशा कार्यकर्ता तथा आंगनबाडी कार्यकर्ता का संयुक्त दल बनाकर उनके द्वारा सभी ग्रामों में घर-घर जा कर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों में कुपोषण, गंभीर एनीमिया, निमोनिया, दस्त रोग की पहचान, एस.एन.सी.यू. एवं एनआरसी से छुट्टी प्राप्त बच्चों का फालोअप कर, बच्चों में जन्मजात विकृति की पहचान तथा सभी बच्चों में विटामिन ए का अनुपूरण किया जायेगा। 

दस्तक अभियान का उद्देश्य है कि 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में प्रमुख बाल्यकालीन बीमारियों की सामुदायिक स्तर पर सक्रिय पहचान द्वारा त्वरित प्रबंधन ताकि बाल मृत्यु दर में वांछित कमी लाई जा सके। अभियान के दौरान समुदाय में बीमार नवजातों और बच्चों की पहचान की जायेगी। इस अभियान को लेकर आम जन से अपील की गई है कि एएनएम, आशा कार्यकर्ता एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के संयुक्त दल को सहयोग प्रदान करें, ताकि दस्तक अभियान को सफल बनाया जा सके। कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने दस्तक अभियान के तहत महिला-बाल विकास एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गये हैं। जिसमें कहा गया है कि अभियान के तहत बच्चों में कुपोषण की जाँच एवं चिन्हांकन का कार्य करने के साथ ही गंभीर कुपोषित बच्चों को शोषण पुनर्वास केन्द्र में उपचार हेतु रेफर करने की कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही पाँच वर्ष तक के बच्चो में खून की कमी की जाँच करने के साथ ही उपचार हेतु रेफर करने की कार्रवाई भी की जाए इसके साथ ही अभियान के दौरान बच्चो में निमोनिया एवं दस्त रोग की जाँच एवं उपचार का प्रबंध किया जाए। बच्चों में जन्मजात विकृति की पहचान तथा उसके उपचार का प्रबंध भी किया जाए। अभियान के दौरान 9 माह से 5 वर्ष तक के समस्त बच्चों को विटामिन-ए की खुराक अनिवार्यतरू पिलाई जाए। इसके साथ ही ओआरएस पैकेट का वितरण तथा साफ-सफाई के संबंध में लोगों को समझाइश भी दी जाए। इस अभियान में अधिक से अधिक लोगों को जेाड़कर बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति जन जागृति लाने का कार्य भी किया जाए।

Share To:

Post A Comment: