भोपाल: अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय जेल एवं सुधार गृह में कैदियों ने 11 करोड़ गायत्री मंत्र लिखकर एक अनूठा रिकॉर्ड दर्ज किया है,  अभी तक पहली बार किसी जेल के अंदर कैदियों ने इतनी बड़ी संख्या मंत्र लेखन कर यह रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया है, केंद्रीय जेल के  अधीक्षक श्री दिनेश कुमार नरगावे जी के
 अथक प्रयासों से अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा बड़ी संख्या में मंत्र लेखन पुस्तकें भेंट की गई एवं कैदियों से आग्रह किया गया की वह इस पुनीत कार्य में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें, जेल अधीक्षक के अनुरोध और गायत्री परिवार के तत्वधान में अब तक किसी जेल में इतनी बड़ी संख्या में पहली बार मंत्र लेखन किया गया, आज से 15 महीने पहले अखिल विश्व गायत्री परिवार ने सभी कैदियों को मंत्र लेखन पुस्तके उपलब्ध कराई थी, पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जी की सूक्ष्म उपस्थिति एवं मंत्र लेखन अभियान में पहली बार किसी जेल के अंदर कैदियों ने यह रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया |
गायत्री मंत्र बुद्धि को शुद्ध पवित्र एवं तेज करने का सबसे सरल उपाय है सभी कैदियों से अनुरोध करता हूं कि वह गायत्री मंत्र का नियमित जप जरूर करें  :-जेल अधीक्षक श्री दिनेश कुमार नरगावे।

केंद्रीय जेल के अधीक्षक ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सभी कैदियों को अवगत कराया कि वे जब भी अपनी सजा पूरी कर कर यहां से जाएंगे तब अपने आप को एवं अपने परिवार के सुखी एवं खुशहाल परिवार निर्माण हेतु इस मंत्र का जप एवं लेखन जरूर करें, 24 अक्षर का गायत्री मंत्र कैदियों की बुद्धि को शुद्ध, पवित्र और तेज करने का यह सबसे बढ़िया सरल एवं पुनीत कार्य होगा, उन्होंने इस मंत्र की उत्पत्ति एवं ऋग्वेद से उत्पन्न इस मंत्र की महिमा भी बताइए साथ ही साथ उन सभी कैदियों को पुरस्कृत भी किया जिन्होंने अधिक मात्रा में गायत्री मंत्र लेखन कर इस  रिकॉर्ड  को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

अखिल विश्व गायत्री परिवार भोपाल की ओर से नेतृत्व करते हुए श्री अमर धाकड़ जी ने सभी कैदियों को गायत्री परिवार द्वारा संचालित सप्त आंदोलन एवं गायत्री महामंत्र मंत्र से मिलने वाली अनुभूतियों से परिचित कराया उन्होंने उन सभी लोगों को कुछ किस्सों से अवगत कराया जिन्होंने मंत्र लेखन कर अपने जीवन में बदलाव लाकर परिवार में अभूतपूर्व परिवर्तन को महसूस किया, 

केंद्रीय जेल भोपाल के कैदियों ने प्रोग्राम को सफल बनाने हेतु अपने गायन समूह के द्वारा प्रोग्राम में चार चांद लगा दिए, देश भक्ति के गानों से ओतप्रोत गीतों के माध्यम से सभी को प्रफुल्लित कर दिया, एवं कुछ कैदियों ने अखिल विश्व गायत्री परिवार से उनकी लाइब्रेरी में पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा लिखित पुस्तकों एवं वांग्मय की भी मांग की है जिससे वह गुरुदेव की विचारों को पढ़कर अपने जीवन में परिवर्तन ला सकें, 

गायत्री परिवार मनावर की वरिष्ठ कार्यकर्ता श्रीमती विनीता प्रशांत खंडेलवाल जी ने अपने पिता स्वर्गीय श्री रमेश चंद जी खंडेलवाल की स्मृति में मनावर शक्ति पीठ की ओर से अब तक 3:30 लाख गायत्री मंत्र लेखन पुस्तिकाओं का वितरण किया जा चुका है मुख्य रूप से मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात ,राजस्थान छत्तीसगढ़ ,पंजाब ,उत्तर प्रदेश, बिहार आदि राज्यों में मंत्र लेखन पुस्तकों को वितरित किया जा चुका है यह मंत्र लेखन अभियान जेल में नगर पालिका सफाई कर्मी गर्भवती बहने छात्रावास स्कूल कॉलेज दिव्यांग भाई-बहनों एवं वृद्ध भाई-बहनों से भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा, ग्रह ग्रह गायत्री यज्ञ ,24 कुंडीय यज्ञ वृक्षारोपण अभियान के माध्यम से मंत्र लेखन कराया जा रहा है, हरीतिमा संवर्धन के अंतर्गत ग्यारह सौ से अधिक बेलपत्र के पौधे का रोपण, वितरण किया गया अभी तक 47 जिलों में उपजेल ,सेंट्रल जेल ,जिला जेल में गायत्री मंत्र लेखन व गुरुदेव का साहित्य वितरित किया जा चुका है मंत्र लेखन कार्यक्रमों के माध्यम से सफाई कर्मी नगर निगम नगर पंचायत में मंत्र लेखन और गुरुदेव के साहित्य का वितरण किया जा चुका है।
कार्यक्रम के अंत में सभी कैदियों ने अखिल विश्व गायत्री परिवार एवं पुलिस प्रशासन का आभार व्यक्त किया, एवं ऐसे कार्यक्रम के आयोजन की मांग भी की, वृक्षारोपण कार्यक्रम वृक्ष गंगा अभियान के अंतर्गत अखिल विश्व गायत्री परिवार के परिजनों द्वारा जेल में सुगंधित पौधों का रोपण भी किया एवं पर्यावरण संतुलन को बनाए रखने की अपील भी की।


Share To:

Post A Comment: