परदेशीपुरा स्थित इलेक्ट्राॅनिक काॅम्प्लेक्स के सामने स्थित एसबीआई के एटीएम में हुई थी चोरी
पुलिस ने एक आरोपी के पास से साढ़े पांच लाख रुपए बरामद किए
इंदौर. परदेशीपुरा स्थित इलेक्ट्राॅनिक काॅम्प्लेक्स के सामने स्थित एसबीआई के एटीएम से अज्ञात बदमाशों द्वारा 21 लाख 36 हजार रुपए की चोरी के मामले का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया। चोरी करने वाले कोई और नहीं एटीएम के कस्टोडियन ही निकले। उन्होंने ही प्लानिंग के तहत बिना एटीएम में रुपए डाले मैन्युल एंट्री का फ्रॉड किया था। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर उसके पास से साढ़े पांच लाख रुपए बरामद कर लिए हैं।
परदेशीपुरा पुलिस के अनुसार 15 जून को एसआईएस प्रोसीग्योर कंपनी के असिस्टेंट मैनेजर हरिओम यादव ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि इलेक्ट्राॅनिक काॅम्प्लेक्स के सामने स्थित एसबीआई के एटीएम से अज्ञात बदमाशों ने 21 लाख 36 हजार रुपए की चोरी की है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर असिस्टेंट मैनेजर हरिओम यादव, जोनल हेड कुन्दन झा और सीनियर मैनेजर आशीष सिंह से पूछताछ की।
उन्होंने बताया कि बोल्ट ओपन करने के लिए जो पासवर्ड उपयोग होता है वह केवल कस्टोडियन विजय जिनवाल और अंकित सोलंकी ही प्राप्त कर सकते हैं। इन्होंने 4 जून को दिल्ली हेड ऑफिस से एटीएम में कैश डालने के लिए बोल्ट ओपन करने के लिए पासवर्ड मंगवाया था। पासवर्ड के जरिए इन्होंने बोल्ट ओपन किया, जिसमें पैसे न डालकर एटीएम की मशीन में मैन्युली 21 लाख रुपए की इंट्री कर दी। यह जानकारी बैंक और कंपनी के सिस्टम में अपडेट हो गया। 8 जून को कस्टोडियन्स ने गुमराह करने के लिये बैटरी चेंज करने तथा डायलर लटके होने और एटीएम का लाॅक नहीं खुलने की झूठी सूचना अपने आला अधिकारियो को दी।
जांच में पता चला कि उक्त बोल्ट बिना पासवर्ड के नहीं खुल सकता है। इस पर कर्मचारी विजय जिनवाल तथा अंकित सोलंकी पर पुलिस को शक हुआ। पुलिस ने विजय से पूछताछ की तो वह बहाने बनाने लगा। कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने बताया कि 4 जून को जो बैंक से इलेक्ट्राॅनिक काॅम्प्लेक्स पर स्थित एटीएम 21 लाख 36 हजार रुपए लाए गए थे। वे पैसे सिर्फ रिकाॅर्ड मे दर्ज किया था, बाद में विजय ने साथी अंकित को 10 लाख रुपए दिए और 11 लाख खुद ने रख लिए थे। पुलिस ने आरोपी के पास से साढ़े 5 लाख रुपए बरामद कर लिए हैं। पुलिस ने आरोपी विजय को न्यायालय में पेश किया जहां से उसे पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है, जबकि उसका साथी अंकित अभी फरार है।


Share To:

Post A Comment: