इस्लामिक बैंक के नाम पर 23000 लोगों से 1500 करोड़ की ठगी

बेंगलुरु का एक शख्स निवेश पर अच्छा रिटर्न का झांसा देकर 23,000 से ज्यादा लोगों का करीब 1500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी कर देश से फरार हो गया है। राज्य की पुलिस ने उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया है और अब उसकी संपत्तियों को जब्त कर रही है। वहीं निवेशक अपना पैसा डूबने से हताश और परेशान हैं। पुलिस ने इस शख्स के आवास से लग्जरी कार जगुआर और रेंज रोवर जब्त की है। कंपनी का एक निदेशक गिरफ्तार है। इतने बड़े घोटाले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मोहम्मद मंसूर खान ने आई मोनेटरी अडवाइजरी (आईएमए) का गठन किया था। उसने आईएमए में निवेश करने वाले 23,000 से ज्यादा लोगों को धोखा देकर गत आठ जून को देश से फरार हो गया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि अपने खिलाफ पहली शिकायत दर्ज होने से एक दिन पहले उसने देश छोड़ दिया। अब खान के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी हुआ है।

खान के खिलाफ पहली शिकायत रविवार को दर्ज हुई लेकिन इसके 24 घंटे पहले एक ऑडियो क्लिप सामने आई जिसमें खान ने कथित रूप से यह दावा किया कि वह आत्महत्या करने के करीब पहुंच चुका है। उसका यह संदेश सोशल मीडिया एप वाट्सएप पर तेजी से वायरल हुआ। इस वायरल संदेश के बाद हजारों लोगों के साथ हुए इतने बड़े घोटाले से पर्दा उठा। इसके बाद निवेशक अपनी शिकायतें लेकर कॉमर्शियल स्ट्रीट पुलिस स्टेशन पहुंचने लगे। पुलिस का कहना है तब तक बहुत देर हो चुकी थी, खान फरार हो चुका था।
Share To:

Post A Comment: