सुबह होते ही पानी की तलाश में निकल जाते हैं लोग.

कई बार ग्रामीण अपनी शिकायत लेकर प्रशासन के पास जा चुके हैं और गांव में पानी की किल्लत होने की शिकायत कर चुके हैं, लेकिन आज तक प्रशासन की नींद नहीं खुली है और न ही गांव में पानी पहुंचा है. जिसके चलते ग्रामीणों को कई किलोमीटर का सफर तय करके पानी लाना पड़ रहा है

रायपुर ः छत्तीसगढ़ में आज भी ऐसे कई ग्रामीण और शहरी क्षेत्र हैं जहां राज्य के आजाद होने के एक दशक बाद भी कोरिया जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या इतनी बढ़ गई है कि ग्रामीणों को बूंद-बूंद के लिए तरसना पड़ रहा है. गांव के नदी नाले सुख गए हैं और दूर-दूर तक गांव में एक भी हैंडपंप तक नहीं है. ऐसे में कई बार ग्रामीण अपनी शिकायत लेकर प्रशासन के पास जा चुके हैं और गांव में पानी की किल्लत होनेकी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन आज तक प्रशासन की नींद नहीं खुली है और न ही गांव में पानी पहुंचा है. जिसके चलते ग्रामीणों को कई किलोमीटर का सफर तय करके पानी लाना पड़ रहा है.

कोरिया के खड़गवां के ग्राम पंचायत जड़हरी के वार्ड क्रमांक 11 ठीहाईपारा में रहने वाले ग्रामीण पीने के पानी की एक-एक बूंद के लिए 2 किलोमीटर का सफर तय कर पानी लाते हैं. वहीं इस वार्ड में आज तक प्रशासन ने एक भी हैंडपम्प तक नही लगा. ग्रामीण अब नदी में पानी के लिए भटक रहे हैं. वहीं एक चट्टान के पास पानी मिला जहां वह अपने पीने के लिए पानी भरते हैं. ग्रामीणों की मानें तो यह समस्या कई वर्षों से है, लेकिन जिले के आला अधिकारियों ने आज तक इस ओर कोई पहल नहीं की है.
Share To:

Post A Comment: