वायु चक्रवात / सोमनाथ में 75 से 80 कि.मी. की रफ्तार से हवाएं चली

वेरावल/राजकोट. वायु चक्रवात का खतरा अब गुजरात पर नहीं मंडराएगा। परंतु इसका असर पोरबंदर, द्वारका, वेरावल और ओखा के समुद्री किनारों पर देखा गया। गुरुवार की सुबह से ही वेरावल के समुद्र की लहरें काफी ऊपर उठने लगी थीं। इस समय भी 75 से 80 कि.मी. प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। अभी भी वहां बारिश के साथ तेज हवाएं चल रही हैं। ऊना के राजपुरा बंदरगाह में कल एक मछुआरा समुद्र में डूब गया। गुरुवार की सुबह उसका शव मिला। तेज हवाओं के कारण 10-12 पेड़ धराशायी हुए हैँ।
राजुला-पीपावाव में तेज बारिश
चक्रवात के असर से राजुला-पीपावाव में तेज बारिश जारी है। मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात जैसे-जैसे करीब आएगा, वैसे-वैसे समुद्री किनारों पर भारी बारिश की संभावना है। उधर राजकोट समेत पूरे सौराष्ट्र में धीमी-धीमी बारिश जारी है। यही हाल जसदल, आटकोट, वींछिया, अमरेली, जूनागढ़, जामनगर का है। गोंडल में बारिश के कारण प्रशासन द्वारा वहां बिजली की आपूर्ति बंद कर दी गई है। वातावरण में ठंडक बढ़ गई है।
Share To:

Post A Comment: