जबलपुर, 04 जून, 2019
      जबलपुर जिले में अचल संपत्तियों का वर्ष 2019-20 के लिए बाजार मूल्य (कलेक्टर गाईड लाईन) निर्धारण हेतु आज कलेक्टर श्री भरत यादव की अध्यक्षता में संपन्न हुई जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में जिले के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र में स्थित आवासीय एवं व्यावसायिक भूखंडो तथा कृषि भूमि की दरों में वृद्धि प्रस्तावित की गई है बैठक में विधायक श्री विनय सक्सेना, वरिष्ठ जिला पंजीयक प्रभाकर चतुर्वेदी सहित जिला मूल्यांकन समिति के सभी सदस्य मौजूद थे
      कलेक्टर श्री यादव ने बैठक को संबोधित करते हुए शासन के निर्देशानुसार अचल संपत्तियों के वर्ष 2019-20 के लिए बाजार मूल्य के निर्धारण पर आम नागरिकों से सुझाव आमंत्रित करने के निर्देश दिये हैं   उन्होंने कहा कि अचल संपत्तियों के बाजार मूल्य में वृद्धि का प्रस्ताव नागरिकों के अवलोकनार्थ जिला पंजीयक कार्यालय में रखा जाये   कलेक्टर ने नागरिकों से मिले सुझावों पर विचार-विमर्श करने के बाद 12 जून को बाजार मूल्य निर्धारण को अंतिम स्वरूप देने तथा राज्य शासन को भेजे जाने की बात कही
      जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में जिले के नगरीय क्षेत्र में स्थित आवासीय एवं व्यावसायिक भूखंडों के बाजार मूल्य में औसतन 0.068 फीसदी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित आवासीय एवं व्यावसायिक भूखंडों के बाजार मूल्य में औसतन 0.065 फीसदी वृद्धि प्रस्तावित की गई है   इसी प्रकार नगरीय क्षेत्रों में स्थित सिंचित एवं असिंचित कृषि भूमि के बाजार मूल्य में औसतन 0.030 फीसदी तथा जिले के ग्रामीण क्षेत्र में स्थित सिंचित एवं असिंचित कृषि भूमि के बाजार मूल्य में 0.142 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है नगरीय क्षेत्र में आवासीय भूखंडों के बाजार मूल्य में प्रस्तावित की वृद्धि में जबलपुर में 12.74 फीसदी, भेड़ाघाट में 19.15 फीसदी, बरेला में 12.82 फीसदी, पनागर में 3.82 फीसदी, सिहोरा में 11.73 फीसदी, पाटन में 5.20 फीसदी, कटंगी में 17.56 फीसदी और शहपुरा में 4.55 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है जबकि नगरीय क्षेत्र में व्यावसायिक भूखंडों के बाजार मूल्य में जबलपुर में 11.85 फीसदी, भेड़ाघाट में 17.14 फीसदी, बरेला में 11.97 फीसदी, पनागर में 4.24 फीसदी, सिहोरा में 11.54 फीसदी, पाटन में 4.50 फीसदी, कटंगी में 17.46 फीसदी और शहपुरा में 3.24 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है
      जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में ग्रामीण क्षेत्र के आवासीय भूखंडों के बाजार मूल्य में जबलपुर में 12.55 फीसदी, पनागर में 19.24 फीसदी, सिहोरा में 16.88 फीसदी, पाटन में 20.26 फीसदी और शहपुरा में 14.86 फीसदी तथा व्यावसायिक भूखंडों में जबलपुर में 10.86 फीसदी, पनागर में 18.10 फीसदी, सिहोरा में 14.90 फीसदी, पाटन में 19.41 फीसदी तथा शहपुरा में 15.14 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है
      नगरीय क्षेत्र में सिंचित कृषि भूमि के बाजार मूल्य के निर्धारण में नगरीय क्षेत्र जबलपुर में 9.69 फीसदी, सिहोरा में 8 फीसदी और पाटन में 2.13 फीसदी वृद्धि का प्रस्ताव जिला मूल्यांकन समिति द्वारा रखा गया है   नगरीय क्षेत्र की असिंचित कृषि भूमि के मामले में जबलपुर में 9.69 फीसदी, सिहोरा में 8 फीसदी और पाटन में 3.20 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है
      ग्रामीण क्षेत्र की सिंचित कृषि भूमि के बाजार मूल्य के निर्धारण में जबलपुर में 13.81 फीसदी, कुंडम में 9.92 फीसदी, पनागर में 14.83 फीसदी, सिहोरा में 12.91 फीसदी, मझौली में 12.65 फीसदी, पाटन में 14.22 फीसदी और शहपुरा में 14.77 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई है इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र में असिंचित कृषि भूमि के बाजार मूल्य निर्धारण में जबलपुर में 14.14 फीसदी, कुंडम में 10.20 फीसदी, पनागर में 15.10 फीसदी, सिहोरा में 12.95 फीसदी, मझौली में 12.71 फीसदी, पाटन में 14.37 फीसदी और शहपुरा में 15.10 फीसदी औसत वृद्धि प्रस्तावित की गई
      बैठक में बताया गया कि भूखंड एवं भवन से संबंधित नगरीय क्षेत्रों के 931 में से 369 क्षेत्रों के भूखंडों की दरों में मूल्य वृद्धि प्रस्तावित की गई है   जबकि ग्रामीण क्षेत्रों के भूखंड एवं भवन में संबंधित 119 में से 75 क्षेत्रों के भूखंडों की दरों में मूल्य वृद्धि प्रस्तावित की गई है   इसी तरह नगरीय क्षेत्रों के कृषि भूमि से संबंधित 38 में से 8 क्षेत्रों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि से संबंधित 619 क्षेत्रों में से 292 क्षेत्रों की कृषि भूमि की दरों में मूल्य वृद्धि प्रस्तावित की गई है
क्रमांक/571/जून-39/जैन


Share To:

Post A Comment: