स्मृति ईरानी जी जनपद अमेठी के कार्यालयों में मारिए छापा हकीकत खुद समझ में आएगी अमेठी क्यों है बदहाल सुधर जाएगी अमेठी की नौकरशाही जनता को मिलेगी राहत

माननीय केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जी जनपद अमेठी में तमाम ऐसे आयुर्वैदिक अस्पताल हैं सभी विकास खंडों में जहां कभी जांच नहीं होती कोई अधिकारी जांच करने नहीं पहुंचता अधिकतर तर डॉक्टर नहीं आते घर बैठे लेते हैं वेतन जनपद अमेठी के सभी विकास खंडों में आयुर्वेदिक के साथ में होम्योपैथिक अस्पताल भी हैं जहां पर कभी डॉक्टर आते ही नहीं है कंपाउंडर करते हैं इलाज और कहीं-कहीं तो डॉक्टरों की तैनाती ही नहीं है कई कार्यालय ऐसे हैं जहां कभी ताला ही नहीं खुलता जनपद अमेठी में अनेक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं जहां पर डॉक्टर नहीं आते जबकि वहां पर तैनाती है आम जनता को जिसके कारण इलाज नहीं मिल पाता और किसी किसी पीएचसी पर ताला बंद रहता है सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी यही हाल है अगर तीन डाक्टरों की तैनाती है तो 2 गायब रहते हैं कभी-कभी तो सभी गायब रहते हैं बारी बारी से करते हैं ड्यूटी बाकी अलग कहीं जाकर के करते हैं किसी नर्सिंग होम में प्रैक्टिसपहले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में हाइड्रोसील हर्निया आदि तमाम प्रकार के ऑपरेशन होते थे लेकिन अधिकतर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र क्या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी ऑपरेशन नहीं होती केवल रिफर सेंटर के रूप में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काम कर रहे हैं जनपद अमेठी में तमाम ऐसे कार्यालय हैं जहां उनके आका आते ही नहीं जैसे कि विकास खंड खंड विकास अधिकारी अपने कार्यालयों में निवास नहीं करते लखनऊ से आते जाते हैं तमाम ऐसे सेक्रेटरी हैं जो घर से ही काम चलाते हैं कभी-कभी अपने क्षेत्र में पहुंच जाते हैं ग्राम पंचायत अधिकारियों के यहां प्रधान महोदय 100 50 किलोमीटर दूर चल कर के चले जाते हैं और दस्कत करा कर के चले आते हैं इस स्थिति से गुजर रहा है जनपद तमाम ऐसे सहायक विकास अधिकारी हैं जो हफ्ते में आते हैं तहसील जिला कार्यालयों में भी कर्मचारी नदारद रहते हैं हमारे सांसद महोदय राहुल गांधी जी ने कभी भी किसी कार्यालयों में अचानक पहुंचकर के जांच नहीं किया छापामार कार्यवाही नहीं किया इस तरह से तमाम ऐसे अधिकारी कर्मचारी है जिनको कभी इसका भय ही नहीं रहा कि हमारे सांसद महोदय कभी छापा मार सकते हैं या कभी हमारे कार्यालय में जांच-पड़ताल करने के लिए आ सकते हैं महोदया इस मिथक को तोड़ना पड़ेगा और अचानक पहुंचकर के छापामार कार्रवाई के द्वारा नदारद रहने वाले भ्रष्ट कर्मचारियों को जो घर बैठकर के वेतन लेते हैं और जनता का काम नहीं करते उनके ऊपर निलंबन और बर्खास्तगी की कार्रवाई करना होगा जिससे जनपद अमेठी की बदहाल व्यवस्था पटरी पर आ सके जनपद अमेठी में अनेक विकासखंड है जहां पर पहले सभी खंड विकास अधिकारी सहायक विकास अधिकारी ग्राम पंचायत अधिकारी और अन्य कर्मचारी वहां के कार्यालयों में निवास करते थे लेकिन आज स्थिति यह हो गई है किसी-किसी विकासखंड में एक भी कर्मचारी निवास नहीं करते जैसे कि जामो इसी तरह से और विकासखंड है अधिकारियों के ना रहने के कारण बनी हुई बिल्डिंग जीर्ण होती हुई चली जा रही है वहां बनी हुई शौचालय ध्वस्त हो जा रहे हैं और बिजली के बोर्ड और नल धीरे-धीरे उखाड़ ले जाते हैं यही नहीं वहां लगी हुई लाइटों को भी लोग चोरी करके उठा ले जाते हैं अधिकारियों कर्मचारियों को रहने का लाभ स्थानीय लोगों को मिला करता था क्योंकि जब अधिकारी कर्मचारी रहा करते थे तो स्थानीय स्तर पर खरीदारी भी किया करते थे जिससे किसानों को उसका लाभ मिलता था और जब कर्मचारी रहा करते थे तो वह अपने परिवार के साथ भी रहते थे जिससे जिसके कारण वह अपने बच्चों को स्थानीय स्कूलों में पढ़ाते थे जिसके कारण से अधिकारियों के बच्चे जब स्कूलों में पढ़ते थे तो भी स्कूलों में भय बना रहता था आज इस प्रथा को लगभग सभी विकास खंडों में यह प्रथा समाप्त हो गई है ना तो अधिकारी रहते हैं ना तो कर्मचारी रहते हैं ना उनके बच्चे और परिवार रहते हैं इस तरह से बड़ा ही भ्रष्टाचार फैला हुआ है बहुत से ग्राम पंचायत अधिकारी सहायक विकास अधिकारी खंड विकास अधिकारी नहीं आते हैं आम जनता उनके दर्शन नहीं होते रहते हैं इस तरह से अमेठी की लोकप्रिय सांसद माननीय स्मृति इरानी जी को अचानक कार्यालय पहुंचकर के छापामार कार्रवाई करके नदारद अधिकारियों के ऊपर करना होगा कार्यवाही सरकार आपकी है माननीय सांसद महोदय विकास के साथ साथ अगर वह चाहती हैं कि अमेठी में वास्तविक विकास हो अस्पतालों में जनता का इलाज होगा खंड विकास अधिकारी सहायक विकास अधिकारी ग्राम पंचायतों ब्लॉकों में रहेंगे पहुंचेंगे तो जनता उनसे मिल सकेगी अपनी समस्या कह सकेगी और उन्हें डर रहेगा यहां रहेंगे जनता यहां तक आएगी तो सही काम होगा इस तरह से सांसद महोदय को चाहिए कि जनपद अमेठी में जिनका संसदीय क्षेत्र भी है में कार्यालयों में अचानक छापा मार कार्रवाई जरूर करें और बन रहे कार्यालय जिला स्तर के हैं बन रहे हैं उनकी गुणवत्ता को भी पहुंच करके परखें यदि हमारी सांसद महोदया इस तरह से जांच पड़ताल की प्रक्रिया करेंगी उनकी लोकप्रियता में और इजाफा आएगा अधिकारी भी जांच पड़ताल करने लगेंगे और अमेठी की रफ्तार अमेठी की विकास की रफ्तार बह निकलेगी जो काफी दिनों से कुंद हो गई है 


रिपोर्ट अशोक कुमार पाण्डेय पत्रकार अमेठी

Share To:

Post A Comment: