एस.टी.एफ. इन्दौर ने पकडा नकली नोटो का जखीरा

तीन आरोपियों से 1,83,600-00 के नकली नोट बरामद
नकली नोट बनाने में प्रयुक्त प्रिन्टर पुलिस ने किया जप्त
फायनेन्स कम्पनी की आड में हो रहा था गोरखध्ंाधा
शहर के बीचोबीच आर.एन.टी.मार्ग इन्दौर के शाम टॉवर पर हो रहा था नकली नोटो का खेल

विशेष पुलिस महानिदेशक एस.टी.एफ./सायबर सेल पुरूषोत्तम शर्मा, द्वारा एस.टी.एफ. की समस्त इकाइयों को संगठित गिरोह पर प्रभावी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया था। इसी तारतम्य में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एस.टी.एफ. भोपाल अशोक अवस्थी, कें निर्देशन में पुलिस अधीक्षक, एस.टी.एफ. इन्दौर गीतेश कुमार गर्ग के नेतृत्व में नकली नोट बनाने वाले गिरोह को गिरफतार किया जाकर नोटो का जखीरा बरामद किया गया है।

एस.टी.एफ. इन्दौर के सहायक उप निरीक्षक अमित दीक्षित को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी कि, इन्दौर के आर.एन.टी.मार्ग स्थित शाम टॉवर की दूसरी मंजिल पर देवास के युवकों द्वारा फायनेन्स कम्पनी की आड में नकली नोटो का बडा कारोबार किया जा रहा है और इन रूपयांें को आसपास के बाजारों में चलाकर टाटा नेक्सॉन गाडी में ऐश अयाशी कर रहे है।

प्राप्त सूचना पर एस.टी.एफ. इन्दौर टीम द्वारा दबिश दिये जाने पर बिजासन कॉलोनी के मकान में रूद्र चोैहान पिता चंदर सिंह चौहान उसके साथी भोला चौहान उर्फ देवेन्द्र चौहान पिता गणेश चौहान और दिलीप चौहान पिता मांगीलाल चौहान निवासी इटावा देवास के कब्जे से कुल 1,83,600 रूपयें के जाली नोट बरामद कर हिरासत में लिया गया। पुलिस टीम को देखते ही इनके साथी दिलीप चौहान ने झोले में रखे हुए नोटो को जलाने का प्रयास किया जिसे तत्परता से टीम द्वारा बुझाया गया एवं जाली नोटो को जप्त किया गया। जाली नोट को छापने में प्रयंुक्त कलर प्रिन्टर जप्त किया गया।

आरोपी रूद्र चौहान की जामा तलाशी लिये जाने पर उसके पर्स से तीन अलग अलग नम्बर्स के पैन कार्ड र्।ॅच्ब्4688भ्ए ठभ्डच्ब्3192क्ए ठक्श्रच्ब्7414थ् बरामद हुए जिसमें सभी में आरोपी रूद्र चौहान का फोटो होकर नाम बिरजू चौहान एवं रूद्र चौहान तथा जन्म दिनांक अलग-अलग होना पाया गया है। 

आरोपी रूद्र चौहान ने पूछताछ पर बताया कि, उसका साथी दिलीप चौहान ईटावा में तांत्रिक क्रिया करता है। इनके द्वारा तांंित्रक क्रियाओं में प्रयुक्त होने वाली नागमणि खरीदने के लिए 11,00,000-00 के जाली नोट तैयार किये थे, किन्तु सौदा नहीं हो पाया। 

आरोपियों का उक्त कृत्य भारतीय दण्ड विधान की धारा  420, 467, 468, 489-ए, 489-बी, 489-सी, 489-डी, 120-बी भादवि तथा आयकर अधिनियम की धारा 139ए(7), 272-बी के तहत प्रकरण पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया है।

एस.टी.एफ. इन्दौर द्वारा नकली नोट के जखीरे को पकडने में सहायक उप निरीक्षक श्री अमित दीक्षित की प्रमुख भूमिका रही है एस.टी.एफ. इन्दौर टीम में निरीक्षक गोपाल सूर्यवंशी, सउनि ओमप्रकाश तिवारी, विजय सिंह चौहान, प्र.आर. झनकलाल पटेल, आर. विनोद यादव, आर. विवेक द्विवेदी, भीषमपाल, सुरेश मिश्रा की उल्लेखनीय भूमिका रही है।

,


Share To:

Post A Comment: