कच्चे नारियल का पानी और उसकी मलाई दोनों अमृतपान के समान ,
दोंनों के एक साथ लाभ पाना चाहते हैं , तो जरूर करें इसका उपयोग 

नारियल पानी में विटामिन ए , बी , सी , प्रोटीन , कैल्शियम , पोटेशियम , मैग्नीशियम , सोडियम एवं लौह तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं , उक्त सभी तत्व शरीर के संपूर्ण विकास हेतु अत्यंत आवश्यक माने जाते हैं

नारियल पानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है ,  शरीर में मौजूद बहुत से गंदे वायरसों से भी लड़ाई करता है

नारियल पानी में नारियल की मलाई मिलाकर पीने से शरीर को शीतलता मिलती है , यह त्वचा संबंधी बीमारियों में काफी लाभदायक सिद्ध होता है 

ताजे हरे कच्चे नारियल में 90 प्रतिशत पानी रहता है लेकिन इस नारियल की मलाई सबसे पौष्टिक अवस्था में होती है , नारियल पानी , पके हुए नारियल की मलाई से भी ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक होता है

इसमें खनिज पदार्थ की मात्रा अधिक होती है , जबकि फैट , शर्करा और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है

ताजे नारियल की 11 औंस मलाई में केवल 65 कैलोरी पाई जाती है परंतु , फिर भी यह पोषकता से भरपूर होता है

नारियल पानी कितनी भी मात्रा में सेवन कर लिया जाए , यह आपको मोटापे से तो बचाता ही है , साथ ही शरीर को आवश्यक पौष्टिकता भी प्रदान करता है

नारियल पानी से शरीर में मैग्नीज की दैनिक आवश्यकता की पूर्ति हो जाती है , यह खनिज , रक्त के थक्के हटाने में सहायक बातावरण के निर्माण में मदद करता है

इसमें लगभग 15 प्रतिशत पोटैशियम पाया जाता है , जो मांसपेशियों, हड्डियों और पाचनतंत्र को सही रखने में मदद करता है

नारियल पानी एवं नारियल की मलाई , तुरंत और तत्काल , शरीर की ऊर्जा बढ़ाने के लिए बेहद प्रभावशाली पेय है

किडनी के लिए आवश्यक खनिज मैग्नीशियम ताजे नारियल पानी में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है

विशेष:---
नारियल पानी+मलाई -- गर्भवती महिलाओं , बच्चों तथा कमजोरों के लिए बहुत ही गुणकारी सिद्ध होता है

ऐसे और भी कई बताये गए एवं माने हुए सुप्रसिद् व रोजमर्रा जीवन में काम आने वाले कारगर नुस्ख़े पढ़ें और लाभ प्राप्त करें
साभार 
(सु-जोक थेरेपिस्ट एवं प्राकृतिक-चिकित्सा-सलाहकार)
Share To:

Post A Comment: