अरब सागर में हवा के कम दबाव की स्थिति गहराने के कारण उत्पन्न चक्रवात 'वायु' महाराष्ट्र से उत्तर में गुजरात की ओर बढ़ रहा है। इसी बीच चक्रवाती तूफान वायु के प्रभाव से बचने के लिए 10 चीनी पोतों ने भारत में शरण ली है। इन पोतों को महाराष्ट्र के रत्नागिरी बंदरगाह में शरण दी गई।

मौसम विभाग का अनुमान है कि इस तूफान के चलते देश के पश्चिमी तटों पर तेज बारिश हो सकती है। चक्रवाती तूफान 12-13 जून को सौराष्ट्र तट पर दस्तक दे सकता है, इसकी रफ्तार 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे से 135 किलोमीटर प्रति घंटे रह सकती है।

भारतीय तटरक्षक महानिरीक्षक के आर सुरेश ने बताया कि, चक्रवात 'वायु' से बचने के लिए मंगलवार को 10 चीनी पोत रत्नागिरी बंदरगाह (महाराष्ट्र में) में शरण ली है। मानवीय आधार पर, भारतीय तटरक्षक बल उन्हें सुरक्षा घेरा के तहत वहां रहने की अनुमति दी है। उधर चक्रवात 'वायु' से निपटने के लिये गुजरात प्रशासन हाई अलर्ट पर है, जिसके गुरुवार को वेरावल के पास तट पर पहुंचने की संभावना है।
Share To:

Post A Comment: