जिलाधिकारी ने चिकित्सालय का किया आकस्मिक निरीक्षण

चित्रकूट-जिलाधिकारीशेषमणि पाण्डेय ने संयुक्त जिला चिकित्सालय का अकास्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने ओ0पी0डी0,नवजात शिशु कक्ष,अकास्मिक कक्ष,जच्चा-बच्चा कक्ष, अन्तःरोगी विभाग,डी.आर.टी.बी.सेन्टर का निरीक्षण किया। जिसमें उपलब्ध रजिस्टर का अवलोकन किया। इसके बाद पोषण पुर्नवास सेंटर का निरीक्षण किया जिसमें कुपोषण से ग्रसित 09 बच्चे भर्ती पाये गये। वहां उपस्थित स्टाफ को कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि इन बच्चों को कुपोषण से दूर करने के लिए अच्छे से अच्छा इलाज करें और इनकी देखभाल और खान-पान का भी ध्यान रखें। ओ0टी0निरीक्षण में वहां तैनात डाक्टर दीपेन्द्र सिंह अनुपस्थित पाये गये। जिनके वेतन रोकने के निर्देश के साथ ही विभागीय कार्यवाही हेतु लिखने के निर्देश दिये। क्षय रोग केन्द्र,पैथालाजी लैब,ब्लड बैंक, दन्त चिकित्सा कक्ष,नेत्र परीक्षण कक्ष का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को कड़े निर्देश देते हुए चिकित्सालय में विद्यमान गंदगी को साफ कराने एवं खराब पड़े वाटर कूलरों को ठीक कराने एवं उनके उचित रख रखाव हेतु कहा। अस्पताल की गंदगी को देखकर बहुत भारी असंतोष प्रकट किया और कहा कि जो पूर्व में 10 दिन मेरे द्वारा निर्धारित किये गये हैं उसके अनुसार पूरी तरह से अस्पताल की साफ-सफाई हो जाये और कहीं भी गुटका-पान की पीक नजर न आये। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के कक्ष में बैठ कर ड्युटी रजिस्टर का अवलोकन किया। अस्पताल में जो भी कमियां है उन्हें दूर करने के कड़े निर्देश दिये। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 राजेन्द्र सिंह को निर्देश दिये कि आप स्वंय भी प्रतिदिन दो घंटे जिला अस्पताल में रहेगें और यहां की व्यवस्थाएं देखेंगे। 

ब्यूरोरिपोर्ट-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव

कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं वेब न्यूज चैनल

जनपद-चित्रकूट

Share To:

Post A Comment: