इंदौर। म.प्र. के सबसे बड़े शहर इंदौर में चमकी बुखार (Chamki Fever) के दस्तक दे दिए जाने की चौंकाने वाली जानकारी निकलकर सामने आ रही है। इस सिलसिले में पहले मरीज के भर्ती होने से सभी हड़बड़ा गए हैं।


दक्षिण भारत से लेकर अनेक प्रदेशों में फैलने के बाद अब चमकी बुखार के इंदौर पहुंच जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। दरअसल आज एमवाय अस्पताल में संदिग्ध मरीज के रूप में देवास जिले के खातेगांव तहसील के अन्तर्गत आने वाले जामनेर गांव के 8 वर्षीय बच्चे को उपचारार्थ भर्ती किया गया है। अस्पताल के सूत्रों के अनुसार असलम नामक इस बच्चे में चमकी बुखार (Chamki Bukhar) के लक्षण मिले हैं। अभी बच्चे की हालत स्थिर है, दरअसल इस बच्चे के परिजनों को खातेगांव को समुचित इलाज न होने के कारण डॉक्टरों के द्वारा हरदा भेज दिया गया, लेकिन जब वहां भी इलाज नहीं हो सका तो गांव के लोगों ने पैसे इकट्ठा कर इस बच्चे को इलाज के लिए एमवाय अस्पताल इंदौर में भिजवाया है।

इस बारे में पूछे जाने पर एमवाय के अधीक्षक डॉ. पी.एस. ठाकुर का कहना है कि इस बच्चे में चमकी बुखार के लक्षण तो नजर आ रहे हैं, लेकिन जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इस बारे में कुछ स्पष्ट तौर पर कहा जा सकेगा।

ध्यान रहे कि बिहार में अब तक चमकी बुखार के कारण 160 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। अब यह मरीज चमकी बुखार का है या नहीं यह कल तक ही स्पष्ट हो सकेगा।
Share To:

Post A Comment: