KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
       प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

प्रयागराज को स्मार्ट सिटी बनाने में सुरक्षा, स्वच्छता एवं जनसुविधओं पर खास जोर
स्मार्ट सिटी बोर्ड की बैठक में लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय
कुम्भ के बाद पूरे नगर के चप्पे-चप्पे पर होगी आई0सी0सी0सी0(एकीकृत कण्ट्रोल एण्ड कमाण्ड सेन्टर) की नजर
अपराध रोकने के लिए संवदेनशील क्षेत्रों में पुलिस की सलाह से लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
यातायात नियंत्रण के लिये शीघ्र प्रारम्भ होगी ई-चालान की प्रक्रिया
पुलिस वाहनों पर लगेगा जीपीएस सिस्टम
नगर में महिला सुरक्षा की व्यवस्था पर व्यापक नजर
स्मार्ट सिटी में सार्वजनिक शौचालयों एवं रैनबसेरों की शीघ्र होंगी व्यवस्था
शहर के चारों तरफ अन्तर्राज्यीय एवं स्थानीय बस अड्डे बनाने की तैयारी
13 जून 2019 प्रयागराज। 
 स्मार्ट सिटी परियोजना प्रयागराज के बोर्ड की बैठक में कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की गयी तथा नगर को सुरक्षा, सफाई एवं जनसुविधाओं की दृष्टि से विकसित करने की रणनीति बनायी गयी। मण्डलायुक्त कार्यालय के सभागार में अपर पुलिस महानिदेशक श्री एस0एन0 साबत एवं मण्डलायुक्त प्रयागराज डाॅ0 आशीष कुमार गोयल के साथ प्रयागराज के आई0जी0 श्री मोहित अग्रवाल, जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानुचंद्र गोस्वामी, मेलाधिकारी श्री विजय किरण आनन्द, नगर आयुक्त डाॅ0 उज्जवल कुमार, डीआईजी कुम्भ श्री के0पी0 सिंह के अलावा बोर्ड के अन्य सदस्य उपस्थित थे। 
बैठक में प्रयागराज को स्मार्ट सिटी बनाने के सम्बन्ध में सर्वप्रथम सुरक्षा व्यवस्था पर गम्भीर चर्चा हुयी, जिसमें नगर के एकीकृत कण्ट्रोल एवं कमाण्ड सेन्टर को प्रभावी रूप से कार्यरत बनाने की रणनीति बनायी गयी। बैठक में निर्णय लिया गया कि कुम्भ के दौरान जिस तरह कुम्भ नगर और प्रयागराज को एकीकृत कण्ट्रोल एण्ड कमाण्ड सेन्टर से संचालित किया गया था, उसे अब प्रयागराज नगर में स्थायी रूप देते हुए पुलिस और सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से उनकी जरूरत के मुताबिक कार्यरत रखा जाये। नगर में सुरक्षा की व्यवस्था एवं अपराधों पर रोक लगाने की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरों की लोकेशन निर्धारित करने की रणनीति बनायी गयी तथा इस कार्य को समयबद्ध ढंग से करने की योजना पर विचार-विमर्श किया गया। यह तय किया गया कि संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस विभाग की राय लेकर ही कैमरे स्थापित किये जायें। जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानंचद्र गोस्वामी के सुझाव पर अपर पुलिस अधीक्षक प्रयागराज की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक नगर, पुलिस अधीक्षक यातायात, मुख्य अग्निशमन अधिकारी तथा एआरओ की एक समिति गठित की गयी, जो यातायात एवं सुरक्षा की दृष्टि से इस कार्य में समुचित निर्धारण करा सके। 
नगर में वाहनों के अनियंत्रित संचालन तथा भीड़ वाले क्षेत्रों में ओवर स्पीड रोकने के लिए सीसीटीवी कैमरों की स्थापना से नियंत्रण की रणनीति बनायी गयी तथा महत्वपूर्ण चैराहों पर ट्राफिक रेड लाईट का समय सुसंगत ढंग से निर्धारित करने पर विचार किया गया। बैठक में स्मार्ट सिटी में सुरक्षा व्यवस्था पर विचार करते हुए डाॅयल 100 सेवा के साथ यू0पी0 100 सेवा को एकीकृत किये जाने पर भी विचार-विमर्श हुआ। स्मार्ट पुलिसिंग के लिए पुलिस वाहनों पर जीपीएस सिस्टम लगाये जाने तथा उच्च गुणवत्तायुक्त 4 इण्टरसेप्टर क्रय किये जाने पर भी सहमति बनी। मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल के सुझाव पर महिला सुरक्षा को लेकर विशेष प्रस्ताव प्रस्तुत किये जाने के निर्देश दिये गये।
यातायात नियंत्रण के लिए ई-चालान की प्रक्रिया को एकीकृत कण्ट्रोल एवं कमाण्ड सेन्टर से जोड़कर एक सप्ताह के भीतर प्रारम्भ करने का निर्णय लिया गया। स्मार्ट सिटी में आग लगने की घटनाओं पर नियंत्रण के लिए फायर अलार्म सिस्टम विकसित किये जाने की सम्भावना एवं व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये गये। अपर पुलिस महानिदेशक ने यह सुझाव दिया कि नगर के किसी भी हिस्से में आग लगने की जानकारी सबसे पहले कण्ट्रोल रूम को हो, ऐसी व्यवस्था विकसित की जाये। एक कण्ट्रोल रूम से नगर के विभिन्न प्रमुख बाजारों एवं स्थलों पर पब्लिक सिस्टम संचालित किये जाने की व्यवस्था का प्रस्ताव प्रस्तुत करने का निर्देश दिये गये। 
मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने स्मार्ट सिटी में सार्वजनिक शौचालयों और रैन बसेरों की सम्भावनायें तलाशते हुए स्थल चिन्हित करने के निर्देश दिये। हाईकोर्ट क्षेत्र के शौचालय एवं सभी प्रमुख सड़कों पर शौचालयों की व्यवस्था सम्बन्धी प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत करने के लिए कहा गया। जिलाधिकारी प्रयागराज के सुझाव पर आम लोगो के लिए बेली अस्पताल में वेटिंग एरिया विकसित करने के निर्देश दिये गये। 
मण्डलायुक्त ने खुले स्थलों को पार्किंग के रूप में विकसित करने एवं अन्य खुले स्थानों पर वेंडिंग जोन विकसित कर वहां पार्किंग स्थल भी विकसित करने के निर्देश दिये, जिससे वेंडिंग जोन के आस-पास सड़कों पर अनियंत्रित पार्किंग को रोका जा सकें। मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देश दिये कि वेंडिंग जोन के स्थल चिन्हित कर प्राथमिक तौर पर नगर के 5-6 स्थलों को चिन्हित कर वहां वेंडिंग एवं पार्किंग की व्यवस्था शीघ्र शुरू की जाये तथा यह ध्यान रखा जाये कि इस प्रकार के विकसित वेंडिंग जोन में केवल पंजीकृत वेण्डर ही कारोबार करें।  
जिलाधिकारी प्रयागराज भानुचंद्र गोस्वामी ने पूरे नगर में प्रमुख सड़कों के किनारे तथा चैराहों पर पौधारोपण पर बल दिया। नगर में बिजली की व्यवस्था में लोड का समुचित वितरण तथा फाॅल्ट पकड़ने की व्यवस्था का प्रस्ताव मांगा गया। मण्डलायुक्त ने स्मार्ट सिटी में ड्रेनेज की मजबूत व्यवस्था के लिए व्यापक प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत करने का निर्देश दिया तथा नगर में एकीकृत पार्किंग व्यवस्था विकसित करने के लिए कहा। मण्डलायुक्त ने शहर के चारों तरफ बस अड्डे बनाये जाने का प्रस्ताव भी सम्बन्धित विभाग से मांगा। उन्होंने ने कहा कि नगर के चारों तरफ अन्तर्राज्यीय एवं स्थानीय बसों के बस स्टेशन प्रस्तावित कर उनकी व्यवस्था का प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत किया जाये।         


Share To:

Post A Comment: