आरोपी महिला एवं महिला का प्रेमी तथा प्रेमी का बचपन का साथी, तीनों गिरफ्तार

जबलपुर - थाना भेडाघाट अपराध क्रमांक 207/19 धारा 302 भा.द.वि.गिरफ्तार आरोपी-1-महेन्द्र पिता सुंदरलाल कुशवाहा उम्र 26 वर्ष निवासी बैहदन 2-नरेन्द्र पिता राजेन्द्र उर्फ रज्जन अहिरवार उम्र 22 वर्ष निवासी बैहदन 3-बबली उर्फ अंजली पति अनिल नेमा उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम बरौदा, घुंसौर जिला सिवनी हाल आदर्श नगर ग्वारीघाट
जप्ती- घटना में प्रयुक्त चाकू, घटना के वक्त पहने हुये कपडे, घटना स्थल से खून लगे 2 पत्थर, एवं मोटर सायकिल थाना भेडाघाट में दिनॉक 12-6-19 को ग्राम अंधुआ निवासी ब्रजेश पटेल उम्र 48 वर्ष निवासी अंधुआ ने सूचना दी थी कि ग्राम बहदन-अंधुआ के बीच नहर किनारे बने मछली पालन केन्द्र के बाजू में मुकुल चौहान के खाली पडे प्लाट मे एक अज्ञात पुरूष का शव पडा हुआ है। सूचना पर पहुची पुलिस को एक अज्ञात पुरूष जिसकी उम्र लगभग 30-32 वर्ष होगी , बदन पर काले नीले रंग की चैक वाली शर्ट, आसमानी रंग का जींस पैंट, सफेद एवं हल्का काला स्पोर्ट्स शूज पहने हुये मृत अवस्था मे पडा हुआ मिला, शव लगभग 2-3 दिन पूर्व का  एवं सिर पर पत्थर से हमला कर हत्या की जाना प्रतीत हो रहा था, चेहरे को पत्थर से पूरी तरह कुचला गया था ताकि पहचान न हो सके, चेहरा पूरी तरह से छत-विछत था, जीव जंतुओ ने भी छतिग्रस्त कर दिया था, सिर पूरी तरह से डिकम्पोज हो गया था। पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया गया घटना स्थल के निरीक्षण एवं पी.एम.कर्ता डाक्टर से हुई मौखिक चर्चा पर किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा 30-32 वर्षिय व्यक्ति की सिर एवं चेहरे पर पत्थर पटककर हत्या करना पाया जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध ंपजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गयां।घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) द्वारा अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी एवं आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये तथा आरोपी की शीध्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया।आदेश के परिपालन मे अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. रायसिंह नरवरिया एवं  अति. पुलिस अधीक्षक अपराध श्री शिवेश सिंह बघेल, तथा न.पु.अ. बरगी श्री रवि चौहान के मार्ग निदेशन एवं थाना प्रभारी भेडाघाट श्रीमति शशि विश्वकर्मा के नेतृत्व में थाना स्टाफ एवं सायबर सेल की टीम गठित की गयी, तथा अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी हेतु स्थानीय स्तर पर पूछताछ तथा समाचार पत्र एवं सोशल मीडिया के माध्यम से प्रयास किये गये, साथ ही वायरलैस सैट के माध्यम से शहर एवं देहात के थानों को सूचित किया गया कि यदि किसी थाने मे उपरोक्त हुलिये से मिलते जुलते व्यक्ति की गुमशुदगी दर्ज हो तो थाना भेडाघाट से सम्पर्क करें।दौरान अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी के ज्ञात हुआ कि दिनॉक 11-6-19 को दोपहर 3 बजे थाना तिलवारा में श्रीमति शशि पटेल उम्र 45 वर्ष निवासी शास्त्री नगर पटेल वैल्डिंग के पीछे तिलवारा ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसका बेटा राजेश पटेल उम्र 27 वर्ष दिनॉक 10-6-19 को दोपहर 2 बजे यादव कालोनी जाने का कहकर घर से निकला था जिससे रात 8-30 बजे फोन पर बात हुई तो गुप्तेश्वर में होना बताया था उसके बाद से बेटे से कोई सम्पर्क नहीं हुआ उसका बेटा राजेश पटेल वापस घर नहीं आया है। सूचना पर गुमइंसान क्रमांक 32/19 कायम कर जांच मे लिया गया था।थाना भेडाघाट अंन्तर्गत बहदन मे एक अज्ञात व्यक्ति के शव मिलने की सूचना श्रीमति शशि पटेल एवं परिजनो को दी गयी, जिस पर परिजनो के द्वारा मृतक की शिनाख्त राजेश पटेल के रूप मे की गयी, एवं प्रारम्भिक पूछताछ पर बताया कि राजेश पटेल पूर्व में सब्जी का ठेला लगाता था वर्तमान मे लगभग 2 माह से फर्नीचर की दुकान मे काम करने जा रहा था।परिस्थिति जन्य साक्ष्य एवं साईन्टीफिक इन्वेस्टिगेशन के आधार पर तीनों आरोपी  महेन्द्र कुशवाहा, एवं नरेन्द्र अहिरवार  तथा बबली उर्फ अंजली नेमा को गिरफ्तार किया गया है।पूछताछ पर पाया गया कि अंजली बर्मन की शादी घंसैर निवासी अनिल नेमा से  नवम्बर 2018 में हुई थी, शादी के 10-12 दिन बाद अंजली बर्मन पति को छोडकर आदर्श नगर ग्वारीघाट में रहने लगी थी, इसी बीच अंजली बर्मन की राजेश पटेल  से मुलाकात हुई, दोनो की आपस में बातचीत होने लगी तथा राजेश पटेल अंजली उर्फ बबली बर्मन से प्यार करने लगा, एवं शादी करना चाहता था लेकिन अंजली के परिवार वाले सहमत नहीं थे, अंजली बर्मन के साथ महेन्द्र कुशवाहा पढता था जिससें अंजली बर्मन के प्रेम सम्बंध थे,  अंजली बर्मन महेन्द्र कुशवाहा को चाहने लगी तथा राजेश पटेल से बातचीत करना बंद कर दी, राजेश पटेल  अंजली को आये दिन मिलने के लिये परेशान करने लगा, यह बात अंजली ने महेन्द्र कुंशवाहा को बतायी व राजेश पटेल को रास्ते से हटाने की योजना महेन्द्र कुंशवाहा के बचपन के दोस्त नरेन्द्र अहिरवार के साथ मिलकर बनायी, योजना के तहत महेन्द्र कुशवाहा ने अंजली को मिर्च पाउडर एवं नरेन्द्र को चाकू खरीदकर दे दिया, योजना के मुताबिक अंजली ने फोन कर राजेश पटेल को मिलनें के लिये बुलाया, महेन्द्र कुशवाहा की मोटर सायकिल में अजंली तथा नरेन्द्र अहिरवार , राजेश पटेल  को बैठाकर  रात लगभग 9 बजे, पहले से चिन्हित किये हुये नहर के पास मुकुल चौहान के प्लाट पर पहुंचे जहॉ पर पहले से महेन्द्र कुशवाहा मौजूद था, पहुंचते ही अंजली ने अपने पास छिपाकर रखी हुई मिर्च पाउडर को राजेश पटेल के चेहरे पर डाल दिया, तभी नरेन्द्र  अहिरिवार ने राजेश पटेल का चाकू से गल रेत दिया, जिससे राजेश पटेल मौके पर ही गिर पडा, राजेश पटेल के जमीन पर गिरते ही पास ही पडा पत्थर उठाकर महेन्द्र कुशवाहा ने राजेश पटेल के सिर पर उठाकर कई बार पटक दिया जिससे राजेश पटेल की मौके पर ही मृत्यु हो गयी, राजेश पटेल का पर्स एवं मोबाईल निकालकर, पर्स को बहदन के क्रिकेट ग्राउंड में नरेन्द्र नें जला दिया, तीनों के हाथ एवं कपडे मे खून लगा हुआ था, तीनों तुरंत तिलवाराघाट पहुंचे एवं हाथ-मुंह धोये तथा राजेश पटेल का मोबाईल तोडकर घाट में नर्मदा नदी के पानी में फेंक दिये इसके बाद महेन्द्र कुशवाहा, बहदन रोड पर नरेन्द्र को एवं अंजली को परसवाडा में अंजली के बहन के घर पर छोडकर ं बहदन चला गया। 

उल्लेखनीय भूमिकाः- आरोपियो की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी भेडाघाट श्रीमति शशि विश्वकर्मा, उप निरीक्षक अशोक मण्डावी, आर.एस.  उपाध्याय, पीएसआई विश्राम सिंह धुर्वे, आरक्षक दिनेश, जय किशन, सायबर सेल के नितिन, आदित्य की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह ( भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूष्कृत करने की घोषणा की है।
Share To:

Post A Comment: