चित्रकूट-कर्वी तहसील में जहां लेखपाल द्वारा पात्र गरीब किसानों  की सूची बनाई गयी है वही कृषि विभाग अधिकारी की मनमानी सामने नजर आ रही है लेखपालों द्वारा जिन पात्र गरीब किसानों के खाते में पैसे डालने के लिये बनाई गई सूची में खाते में पैसा न पहुचने की वजह से गरीब किसान कृषि  विभाग अधिकारी के लगा रहा चक्कर वही अपात्र लोगो के खाते में कृषि विभाग अधिकारी द्वारा  पहुंच रहा पैसा वही गरीब किसान को रजिस्ट्रेशन के नाम पर कृषि विभाग लगवा रहा चक्कर जो एक जांच का है विषय सूत्रों से आ रही खबर के अनुसार की कृषि विभाग की घोर लापरवाही के कारण ज्यादातर आपात्रों के खाते में पैसा डाला गया है जबकि वह सरकारी नौकरी  से हैं और गरीब किसान तहसील व कृषि विभाग के चक्कर ही लगा रहा है ऐसे में भारत सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना फेल होती हुई नजर आ रही है और तो और कृषि विभागअधिकारी का ऑपरेटर गरीब किसानों को बेवजह कभी सूची के नाम पर कभी सरवर के नाम पर ऑनलाइन करने के लिए परेशान करता रहता है जिससे साफ जाहिर होता है कि भारत सरकार द्वारा यह योजना अपात्रों के लिए ही चलाई गई है पात्र व्यक्ति दर-दर की ठोकर खाते हुए  क़षि विभाग के लगा रहा चक्कर अगर इसकी जांच कराई जाए तो अपात्र ओं के ही खाते में ज्यादातर पहुंचा होगा पैसा नाम न बताने की शर्त पर कुछ लेखपालों द्वारा बताया गया कि कृषि विभाग उन लोगों के खाते में पैसा भेज रहा है जिनको हम लोगों ने अपात्र किया था उन्हीं अपात्रो के खाते में तीन-तीन व चार-चार बार पैसा भेजा गया और जब लेखपालों द्वारा भेजे गए पैसे की सूची मांगी गई तो सूची नहीं उपलब्ध करा रहा कृषि विभाग अधिकारी इससे साफ जाहिर होता है कि कृषि विभाग द्वारा भेजे गए पैसों की सूची देने पर कहीं कृषि विभाग की पोल न खुल जाए वही गरीब किसान दर-दर की ठोकर खाने को है मजबूर।
ब्यूरोरिपोर्ट-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं वेब न्यूज चैनल
जनपद-चित्रकूट
Share To:

Post A Comment: