चित्रकूट- जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने बताया कि आगामी आषाढ़ मास की अमावस्या 02 जुलाई 2019 पड़ रही है जो यह मेला 01 जुलाई 2019 से 03 जुलाई 2019 तक चलेगा। को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये कि कि इस आषाढ़ मास की अमावस्या में 3 से 4 लाख लगभग तीर्थयात्रियों के आने की संभावना है। उन्हें किसी प्रकार की समस्या न हो। उन्होंने कहा कि मेला को सम्पन्न कराने के लिये प्रथम व द्वितीय पाली के लिये 12 जोनल मजिस्ट्रेट,05 रिजर्व जोनल मजिस्ट्रेट,26 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 04 रिजर्व सेक्टर मजिस्ट्रेट लगाये गये हैं। रामघाट पर मंदाकिनी नदी के पानी को स्वच्छ रखने के उद्देश्य से रामघाट व उसके आस-पास दुकानदारो द्वारा शैम्पू, साबुन तेल, पालीथीन पन्नी/बैग का विक्रय/प्रयोग की रोकथाम के लिये भी अधिकारियों की ड्यिटी लगायी गयी है। इसके अलावा अमावस्या के मौके पर बच्चो से खाने पीने की दुकानो पर काम कराते है व दुकानों के सामने जमीन पूजा सामाग्री बेचते हैं। बाल श्रम की सम्भावना को दृष्टिगत रखते हुये अधिकारियों को तैनाती की गयी है। जो 01 जुलाई 2019 से 03 जुलाई 2019 तक रामघाट सीतापुर से लेकर परिक्रमामार्ग तक मोबाइल रहकर प्रभावी नियंत्रण करेगें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जब तक आपके प्रतिस्थानी नही आ जाते हैं तब तक आपको ड्यिटी स्थल नही छोड़ना है। यह पहले से सुनिश्चित कर लें और आपस में एक दूसरे से सम्पर्क में रहें। जिलाधिकारी ने कहा कि चित्रकूट मेला का व्हाट्सअप ग्रुप बनाया गया है उसमें मेला की स्थिति को अवगत कराते रहें। किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्ब नही होगी। दुकानों के सामने अतिक्रमण न किया जाय और न ही छोटे-छोटे बच्चों को व्यवसायिक काम के लिए बैठाया जाय। अतिक्रमण के लिए उप जिलाधिकारी ने पाबंद भी किया है। जलेबी वाली गली में अतिक्रमण अधिक होता है। उसमें अतिक्रमण न करें। यह परिक्रमा मार्ग दर्शनार्थियों के लिए है व्यापार के लिए नहीं। अधिशाषी अभियंता विद्युत अपनी टीम लगाकर विद्युत की चेकिंग करा लें। जो विद्युत तारें लटक रहीं हैं उनका निराकरण करा दिया जाय। रामघाट पर नावों पर नम्बर अवश्य डलवा दें। उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों की ड्यिटी लगायी गयी है वह स्थल की जानकारी अवश्य रखें। अधिशाषी अभियंता सिंचाई निर्माण खण्ड मंदाकिनी नदी में बैरीकेटिंग अवश्य करा दें। उन्होंने सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक,उ0प्र0 परिवहन निगम अधिकारी को निर्देश दिये कि अमावस्या के दौरान बसें चलेंगी किसी भी दशा में यात्री बसों के ऊपर न बैठने पायें। सहायक सभ्भागीय परिवहन अधिकारी टैम्पों का किराया निर्धारित कर टैम्पों में स्थान सहित किराये की सूची चस्पा करायें। और इसमें कोतवाल,टीआई व एआरटीओ साथ में बैठक कर रेट का किराया निर्धारित करे, के साथ ही रेलवे स्टेशन,बेड़ी पुलिया, रामघाट व परिक्रमा मार्ग पर बैनर लगवाये। अधिशाषी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग बेड़ी पुलिया से रामघाट तक सड़क का निर्माण अवश्य करा दें। सड़क पर मैटेरियल ठीक से भरा जाय। रेलवे स्टेशन पर भीड़,गाडि़यों की जानकारी की सूचना जीआरपी समय-समय से देते रहें। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि एम्बुलेंश व स्वास्थ्य कैम्प लगवायें। सभी प्रकार की सुविधाएं रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि खोया पाया केन्द्र रामघाट,यू0पी0टी तथा खोही ग्राम पंचायत भवन परिक्रमा मार्ग पर लगेगा। अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी व फूड इंस्पेक्टर मिलकर रामघाट व परिक्रमा मार्ग में प्लास्टिक का सामान,पान,गुटखा,तम्बाकू आदि की कल से छापा मारी करें। और आप लोग दुकनदारों को अवगत करायें कि अगर आप बेचेंगे तो प्रशासन आपके खिलाफ कार्यवाही करेगा। परिक्रमा मार्ग व रामघाट की साफ-सफाई पर कहा कि जिला पंचायत राज अधिकारी व नगर पालिका अपने-अपने क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले तीर्थ क्षेत्र को साफ-स्वच्छ रखें। जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि मेला को सकुशल सम्पन्न कराने के लिये पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था की गयी है।

ब्यूरोरिपोर्ट-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं वेब न्यूज चैनल
जनपद-चित्रकूट
Share To:

Post A Comment: