सात दिन के भीतर करें सुरक्षा के सभी जरूरी इंतजाम कोचिंग संचालकों को कलेक्टर की हिदायत। 

Kkkन्यूज जबलपुर- कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज शुक्रवार को कोचिंग संस्थानों के संचालकों की बैठक लेकर उन्हें सात दिन के भीतर सुरक्षा के सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि कोचिंग संस्थानों को बच्चों की सुरक्षा को हर हालत में  प्राथमिकता देनी होगी । बच्चों की सुरक्षा से समझौता किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। श्री यादव ने कहा कि जिन कोचिंग संस्थानों को जांच के बाद नोटिस दिए गये हैं तथा जिनकी जांच नहीं हुई है उन्हें भी सात दिन के भीतर सुरक्षा के न्यूनतम मानकों का पालन करना होगा और कमियों को दूर कर अपना प्रतिवेदन सम्बंधित क्षेत्र के एसडीएम को देना होगा कलेक्टर ने  बैठक में चेतावनी दी कि  न्यूनतम सुरक्षा मापदण्डों का पालन नही करने वाले कोचिंग संस्थानों पर जुर्माना लगाया जाएगा और उन्हें बंद कराने की कार्यवाही भी प्रशासन द्वारा की जाएगी । श्री यादव ने कोचिंग संस्थानों के संचालकों को नगर निगम में  रजिस्ट्रेशन कराने के निर्देश भी दिए । उन्होंने सुरक्षा मानकों के पालन की दिशा में अच्छा काम करने वाले कोचिंग संस्थानों को सम्मानित करने की बात भी  बैठक में कही ।श्री यादव ने बैठक में कहा कि कोचिंग संचालकों को फायर सेफ्टी के साथ-साथ बारिश के मद्देनजर भी सुरक्षा के इंतजामों पर ध्यान देना होगा । उन्होंने बच्चों के लिये कक्षाओं में प्रवेश एवं निर्गम के अलग - अलग द्वार की व्यवस्था करने , क्षमता से अधिक बच्चों को प्रवेश न देने , साफ सफाई के समुचित इंतजाम करने  तथा विद्युत फिटिंग एवं वायरिंग की समय समय पर  जांच कराने के निर्देश भी दिए  । श्री यादव ने कहा कि कोचिंग संचालकों को कोचिंग क्लासेस के लिये ऐसे स्थानों या भवनों का चयन करना होगा जहां फायर ब्रिगेड आसानी से पहुंच सके । उन्होंने कोचिंग संस्थानों में  लगे अग्निशमन यंत्रों को निरन्तर अपडेट रखने , तय समय पर रिफिल कराने और अग्निशमन यंत्रों के संचालन के लिये स्टॉफ के सभी सदस्यों को प्रशिक्षित करने के निर्देश भी दिए । कलेक्टर ने जर्जर भवनों में कोचिंग क्लासेस न लगें यह सुनिश्चित करने के निर्देश बैठक में मौजूद अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को दिए । उन्होंने सात दिन की तय समय-सीमा में तय सुरक्षा मापदण्डों के मुताबिक आवश्यक सुधार नहीं करने वाले सभी कोचिंग संस्थानों की जांच करने के निर्देश भी अनुविभागीय अधिकारियों को दिए। बैठक में अपर कलेक्टर व्ही.पी. द्विवेदी एवं सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी मौजूद थे।


Share To:

Post A Comment: