छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने छत्तीसगढ़ के दन्तेवाड़ा में पहाड़ बचाने के लिए की जा रही आदिवासियों की मांगे मान ली हैं। इस बारे में सरकार ने बस्तर से आये प्रतिनिधिमंडल की मांगें मानने के बाद बड़ा फैसला किया है। सरकार ने वनों की कटाई पर तुरंत रोक लगा दी है।

बता दें कि बीते शुक्रवार 7 जून से छत्तीसगढ़ के दन्तेवाड़ा में पहाड़ बचाने के लिए आदिवासियों का महाआंदोलन जारी है। आंदोलन में हजारों आदिवासी मौजूद हैं। संभाग भर से आदिवासी जंगलों से निकलकर अपने परिवार सहित मीलों पैदल यात्रा कर इस आंदोलन में शामिल हुए हैं। दरअसल एनएमडीसी की कंपनी एनसीएल ने उद्योगपति गौतम अडानी को लौह अयस्क के खनन के लिए बैलाडीला की डिपोजिट नंबर 13 का ठेका दिया है।

दन्तेवाड़ा में पहाड़ी को बचाने के लिए आदिवासी आंदोलन कर रहे हैं। आदिवासी इस पहाड़ी नंदराज पर्वत को अपना देवता मानते हैं। अब सरकार के इस फैसले के बाद फिलहाल जो काम चल रहा है उस पर रोक लग जाएगी।
Share To:

Post A Comment: