चित्रकूट- गतदिवस जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में 01 जुलाई 2019 से 31 जुलाई 2019 तक विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान के द्वितीय चरण के आयोजन हेतु बैठक सम्पन्न हुयी। जिसमें संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार पर सफलता पूर्वक नियन्त्रण पाने के लिये संबंधित विभागो के साथ समन्वय बनाये जाने के निर्देश दिये। इस कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु शासन द्वारा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को इस अभियान का नोडल नामित किया गया है। *चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग का कार्य संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार से संबंधित रोकथाम एवं नियन्त्रण गतिविधियों हेतु जनपद ब्लाक तथा ग्राम पंचायत/ग्राम स्तरों पर समन्वय स्थापित कर संचारी रोगो तथा दिमागी बुखार केसेज की निगरानी रोगियों के उपचार की व्यवस्था, रोगियों को निःशुल्क परिवहन की सुविधा,लार्वारोधी गतिविधियां, प्रचार प्रसार एवं व्यवहार परिवर्तन की गतिविधियां,मानीटरिंग, पर्यवेक्षण,रिपोर्टिंग, अभिलेखीकरण तथा विश्लेषण आदि कार्यो का उत्तरदायित्व सौंपा गया है। नगर विकास विभाग संचारी रोगो की रोकथाम हेतु साफ-सफाई, खुले में शौंच न करने,शुद्व पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने, मच्छरों की रोकथाम हेतु जागरुकता अभियान संचालित करने, खुली नालियो को ढकने की व्यवस्था, शहरी क्षेत्रो में कार्यक्रम करवाना, हैण्डपम्पों के पास अपशिष्ट जल के निकलने हेतु सोकपिट का निर्माण कराना तथा पेयजल को शुद्वता की जांच कराना आदि गतिविधिया करना, पंचायती राज विभाग प्रधानो के सहयोग से ग्रामो में 01 जुलाई को जनसम्पर्क/जन जागरण प्रभात फेरी का आयोजन करायेंगे। ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई तथा संचारी रोगो को रोकने के उपायो पर ग्रामों में बैठकर चर्चा करेंगे।पशुपालन विभाग सुअर पालन करने वाले नागरिको से आग्रह कर उन्हे अन्य व्यवसाय में लगने का संदेश देंगे यथा सुअर बाड़े आबादी क्षेत्र से दूर बनाये जायें तथा सभी पशु बाड़ो की साफ-सफाई कराया जाये, बाल विकास/पुष्टाहार विभाग, आंगनवाड़ी कत्रियों द्वारा इस रोग से बचने के उपायो के बारे में सेन्सिटाईज किया जाना, *कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चो की सूची बनाकर उन्हें उचित पुष्टाहार प्रदान किया जाना तथा आवश्यकता
पड़ने पर पोषण पुर्नवास केन्द्रो पर उपचार तथा भोजन की व्यवस्था। शिक्षा विभाग प्रतिदिन प्रार्थना सभा में बच्चो को दिमागी बुखार का संदेश बताकर इससे बचने के उपायो को भी बतायेंगे। चिकित्सा शिक्षा, दिव्यांगजन, कल्याण विभाग, समाज कल्याण, कृषि एवं सिचाई सहित अन्य विभाग को संचारी रोगो एवं दिमागी बुखार से बचने के उपायो हेतु जागरुकता करें*। जिससे जनपद मे दस्तक ही न दे पाये। जिलाधिकारी ने कहा कि जन समान्य में अधिक प्रभाव के लिये सभी गतिविधियो का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये तथा 01 जुलाई 2019 को अभियान को समारोह पूर्वक प्रारम्भ किया जाये। प्रचार-प्रसार के लिये होल्डिंग,बैनर, पम्पलेट आदि लगवाये एवं वितरित कराये जायें जिससे लोग इस रोग के प्रति बचने के उपायो को अपनायें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विभाग अपनी कार्य योजना बनाकर दे दें और उसी के अनुसार कार्यक्रम आयोजित हों।इस अवसर मुख्य विकास अधिकारी डा0 महेन्द्र कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 राजेन्द्र सिंह, उप जिलाधिकारी राजापुर  अश्विनी कुमार पाण्डेय, उप जिलाधिकारी कर्वी इन्दुप्रकाश, वरिष्ठ कोषाधिकारी कमलेश कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित अन्य अधिकारी एवं चिकित्सक उपस्थित रहे।

ब्यूरोरिपोर्ट-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं वेब न्यूज चैनल
जनपद-चित्रकूट
Share To:

Post A Comment: