जिलाधिकारी की अध्यक्षता में किसान दिवस गोष्ठी का हुआ आयोजन

चित्रकुट-जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में किसान दिवस गोष्ठी का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि किसानों के लिए मेरा दरवाजा 24 घंटा ख्ुला रहेगा मैं भी एक किसान का बेटा हूॅं। किसानों के हित के लिए मेरी सबसे पहली प्रथम वरियता किसान ही है।आपलोगों की समस्या को लेकर सरकार व प्रशासन गंभीर है। अन्ना प्रथा की समस्या को लेकर जनपद में गोवंश पशु आश्रय स्थल खोले जा रहे हैं। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि किसानों को जानकारी दी जाय कि कहां - कहां पर पशु आश्रय केन्द्र खोले जा रहे हैं ओर उन पर क्या व्यवस्था करायी गई है।पेयजल व्यवस्था पर कहा कि एक सप्ताह के अंदर हैण्डपम्पों का रिबोर हो जायेगा जहां पर पानी की समस्या होती है वहां पर टैंकरों के माध्यम से पानी भेजा जा रहा है। यह समस्या पूरे बुन्देलखण्ड में है। वृक्षारोपण में आपलोग अधिक से अधिक बढ़-चढ़ कर भाग लें। जितना अधिक से अधिक वृक्षारोपण होगा तो आने वाली पीढि़यों को फायदा मिलेगा। जनपद में रैन वाटर रिचार्जिंग का कार्य हो रहा है। आपका सहयोग चाहिए। प्रशासन अकेले कार्य नहीं कर सकता। तालाबों का अतिक्रमण हटाया जा रहा है और उनका जीर्णोद्धार भी मनरेगा योजना से किया जायेगा। आपलोग वर्षा की एक-एक बूॅंद पानी का संचय करें। पुराने जलश्रोतों को पुर्नजीवित करने का कार्य किया जायेगा। पेयजल की समस्या गंभीर होती जा रही है। मैं सबसे अपील करता हूॅं कि जो नये घरों का निर्माण हो रहा है उसमें वाटर रिचार्जिंग भी बनाया जाय। कुॅंओं,बावली,नालों आदि पर भी प्रशासन व स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा रैनवाटर हार्वेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है। कहा कि उद्यान,कृषि,भूमि संरक्षण आदि विभागों की योजनाओं का लाभ आपलोग लें और अच्छी उन्नत किस्म के बीजों का रोपण करें ताकि अधिक से अधिक पैदावारी हो और किसान हमारे जनपद का खुशहाल रहे। मुख्य विकास अधिकारी डा0 महेन्द्र कुमार ने कहा कि किसानों की जो पेयजल,विद्युत,अन्ना प्रथा आदि समस्याएं प्राप्त हुई हैं। मैं सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश देता हूॅं कि तत्काल किसानों के हित को देखते हुए समस्याओं का निस्तारण करें। प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश ने कहा कि जनपद में 17 लाख 40 हजार वृक्षारोपण का लक्ष्य रखा गया है। मैं सभी किसान भाईयों से अपेक्षा करता हूॅं कि कम से कम 10-10 पेड़ फलदार अवश्य लगायें। हमारी नर्सरियों में पर्याप्त मात्रा में वृक्ष हैं अगर कोई कमी होगी तो बाहर से भी वृक्ष मंगाकर आपलोगों को उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी की मंशा है कि सहजन के वृक्ष अधिक से अधिक लगाये जायें। उप निदेशक कृषि  टी.पी.शाही ने कृषि विभाग में उपलब्ध बीजों व अनुदान के बारे में जानकारी दी। किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष रामसिंह पटेल,मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0सुधीर सिंह,जिला कृषि अधिकारी बसंत कुमार दूबे व संबंधित अधिकारियों व किसानों ने अपने-अपने सूझाव व विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। 


जिलारिपोटर-विवेक श्रीवास्तव

कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं वेब न्यूज चैनल

जनपद-चित्रकूट

Share To:

Post A Comment: