मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने आज अपने हाथ में तकलीफ़ होने के बाद ऑपरेशन के लिये भोपाल के एक सरकारी अस्पताल “हमीदिया अस्पताल” को चुना..!

देश के इतिहास में ये पहला मौक़ा है जब किसी मुख्यमंत्री की सर्जरी दिल्ली-मुंबई जैसे बडे शहर या किसी महानगर की जगह भोपाल के एक सरकारी अस्पताल में होने जा रही है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने अपने हाथ की सर्जरी के लिये भोपाल के सरकारी अस्पताल का चयन कर दो स्पष्ट संदेश दिये हैं, पहला कि वो जनता का सरकारी अस्पतालों से टूटा विश्वास वापस लाना चाहते हैं, वहीं वो सरकारी अस्पतालों को निजी अस्पतालों से ज़्यादा सुविधा सम्पन्न, जवाबदेह और उत्तम सेवाओं की प्रतिस्पर्धा में पहली पंक्ति में लाना चाहते हैं।

देश का हर व्यक्ति जानता है कि कमलनाथ जी के लिये दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अस्पताल और सर्वश्रेष्ठ चिकित्सक एक क्लिक पर उपलब्ध होने के बावजूद उनके द्वारा स्वयं के उपचार के लिये सरकारी अस्पताल का चयन प्रदेश की जनता के सरकार और सरकारी तंत्र के प्रति विश्वास को बहुत आगे बढायेगा।

जिस दिन कमलनाथ जी का अनुसरण करते हुये सरकारी अस्पताल में उपचार का निर्णय प्रदेश का हर सांसद, विधायक, मंत्री और अधिकारी भी लेने लग जायेंगे उस दिन गुणवत्ता की दौड़ में सरकारी अस्पताल निजी अस्पतालों से बहुत आगे निकल जायेंगे।

कमलनाथ जी के इस निर्णय ने आज मध्यप्रदेश की जनता को उनके बेहद क़रीब लाकर खड़ा कर दिया है।
Share To:

Post A Comment: