अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम बच्ची की नृशंस हत्या के मामले में पुलिस ने तीसरे आरोपी को गिरफ्तारी किया है। जानकारी के मुताबिक इस मामले में पुलिस ने जिसे पकड़ा है वह आरोपी जाहिद का भाई मेंहदी है। मेंहदी पर हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है। बताया जा रहा है कि जिस दिन मासूम बच्ची का शव मिला, उसी दिन लोगों ने मेंहदी की जमकर पिटाई की थी, जिसके बाद से वो फरार हो गया था।

इससे पहले पुलिस ने दो आरोपियों जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया था। पुलिस पूछताछ में दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है। महज 10 हजार रुपए के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया। यह रकम बच्ची के पिता ने उधार ली थी और वह उसे वापस नहीं कर पाए थे। इस बात को लेकर आरोपी और बच्ची के पिता के बीच कहासुनी हुई और बात यहां तक आ पहुंची।

वहीं दूसरी ओर बच्ची की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट भी आ गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिल हदला देने वाली है। बच्ची की एक किडनी नहीं मिली। एक हाथ शरीर से अलग था। मासूम को इस कदर मारा गया था कि उसका नोजल ब्रिज (नाक और माथे को जोडऩे वाली हड्डी) टूट गई थी। एक पैर में फ्रैक्चर हो गया था। जिसके चलते बच्ची की मौत सदमे से हो गई थी। डा. केके शर्मा के अनुसार बुरी तरह से मारने पीटने के कारण बच्ची की मौत सदमे से हो गई थी।
Share To:

Post A Comment: