जबलपुर । भेड़ाघाट क्षेत्र में स्वर्गद्वारी के पास भाजयुमो नेता की हत्या का राजफाश करते हुए तीन आरोपियो को दबोच लिया है। बताय गया है कर्ज से छुटकारा पाने के लिए दुकान के कर्मचारी और मृतक के दो दोस्त ने मिलकर उसकी हत्या करने की योजना बनाई थी। सनसनीखेज हत्याकांड का राजफाश करते हुए अफसरो ने बताया कि 14 जून की दोपहर भेड़ाघाट पंचवटी निवासी ऋषभ जैन (27) भाजयुमो नेता और मूर्ति दुकान संचालक का शव स्वर्गद्वारी में रेत में गड़ा हुआ मिला था। वहीं उसकी बाइक जंगल में खड़ी मिली थी। मामले को देखते हुए किसी करीबी के होने की आशंका थी। मामले में विशेष टीम गठित कर आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई। छानबीन के दोरान टीम ने संदेह के आधार पर खेरमाई मंदिर के पास वार्ड नं 3 भेड़ाघाट निवासी पुरुषोत्तम रजक उर्फ भोला (25) जो भाजपा का पदाधिकारी है। भेड़ाघाट वार्ड नं 7 निवासी वीरेन्द्र उर्फ बाबू भूमिया (28) और वार्ड नं 2 भेड़ाघाट निवासी शिवा उर्फ शिब्बू भूमिया (22) को गिरफ्तार किया। इसमें आरोपी पुरुषोत्तम उर्फ भोला रजक भ़ेडाघाट स्थित शगुन होटल में कपड़े धोने और प्रेस करने का काम करता था, और मृतक ऋषभ से उसकी अच्छी दोस्ती थी। वहीं बाबू उर्फ वीरेन्द्र भूमिया भेड़ाघाट में अण्डे की दुकान लगाता था। जबकि आरोपर शिवा उर्फ शिब्बू भूमिया मृतक ऋषभ की दुकान में कारीगर था। तीनों आरोपियो ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उन्होन ऋषभ को शराब पिलाकर उसे बेहोश कर रेत में गड़ाने और उसके मोबाइल से उसके परिजन से दो लाख रुपए की मांग करने का प्लान बनाया था। इससे वह तीनों अपना कर्ज उतार देते। यह प्लान 15 दिन पहले बनाया गया था। पूछताछ में पुलिस को योजना के मुताबिक पुरुषोत्तम रजक ने बताया कि 13 जून की सुबह साढे दस बजे ऋषभ दुकान खोलकर घर की ओर गया। तभी से उसकी रैकी करना शुरू कर दिया। शाम 6 बजे भोला और बाबू के घर गया और उनको प्लान बताया। रात लगभग 9 बजे पुरुषोत्तम उर्फ भोला अपनी बाइक से बाबू और शिब्बू को स्वर्गद्वारी के पास ले गया। जहां बाबू और शिब्बू छुप गए। पुरुषोत्तम ने ऋषभ को फोन करके शराब पीने के लिए स्वर्गद्वारी में बुलाया। थोडी देर बाद ही ऋषभ स्वर्गद्वारी सीढ़ी के पास पहुंचा और भोला और ऋषभ नीचे बैठकर शराब पीने लगे। तभी भोला ने ऊपर से बाबू को इशारा किया, तो बाबू ने ऋषभ के सिर पर एक बड़ा पत्थर फेंका। पत्थर ऋषभ के सिर के पीछे लगा और उसे चोट आई। इसके बाद पत्थर सिर पर पटककर ऋषभ की हत्या कर दी। वहीं उसका शव बोरे में छुपाकर बाइक में रखा और कुछ दूर रेत में शव को रखकर गड़ा दिया, ओर फावड़े को नदी में फेंक दिया। आरोपियो ने मृतक ऋषभ का मोबाइल अपने पास रख लिया था, लेकिन जब ऋषभ का शव पुलिस को मिला, तो मोबाइल को उन्होने नया पुल के नीचे कुंड में फेंक दिया। पुलिस ने आरोपियो की निशानदेही पर कुंड से मोबाइल जब्त कर लिया है। आगे की छानबीन ओर सुराग जुटाने के लिये पुलिस ने आरोपियो को रिमांड पर लिया 
Share To:

Post A Comment: