किसान आक्रोश रैली में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बड़ी बात कही। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह और सुरेश पचौरी मुझे मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के लिए बुला रहे थे। यानी कांग्रेस के कुछ नेता कमलनाथ सरकार गिराने के प्रयास में काम कर रहे थे। विजयवर्गीय का यह बयान मध्य प्रदेश की सियासत में भूचाल ला सकता है।

उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने अपनों को ही डस लिया, इसलिए पार्टी के कई आला नेता उनके खिलाफ हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथ के सभी ओएसडी के पास पैसा गिनने के लिए मशीन है। पिछले दिनों में जितने तबादले मध्य प्रदेश में हुए हैं, उतने देश में कही नहीं हुए। उन्होंने कहा कि पुलिस के एक अधिकारी ने मुझसे कहा कि 25 लाख रुपए भी ले लिए और ट्रांसफर भी नहीं किया।

पश्चिम बंगाल के हालातों पर बोलते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि बम और पिस्तौल वहां के राजनीतिक दलों के हथियार हैं। हमने वहां के लोगों को वादा किया है कि हम वहां शांति स्थापित करेंगे। ये बम की सरकार, बंदूक की सरकार, धमाकों की सरकार को हम खत्म करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर एनआईए वहां जांच करें तो टीएमसी के नेताओं के घर से बड़ी मात्रा में बम बरामद होंगे।
Share To:

Post A Comment: