मुश्लिम समुदाय एवं समाज के लोगो ने सामूहिक रूप से रफ़ीक खान के परिवार का समाज से वहिष्कार किया औऱ कहा कि रफ़ीक को मरने के बाद मस्जिद में जनाजे की नवाज भी नही पढ़ी जायगी और न ही कब्रिस्तान में दफ़नाने के लिए जगह दी जायगी 

नौगांव में बीतें तीन दिन पहले रफीक खान द्वारा घर में घुसकर नाबालिक युवती के साथ छेड़ छाड़ कर युवती को जलाकर मारने के मामले के बाद,नौगांव मुस्लिम समाज जामा मस्जिद में एकत्रित हुआ , पेश इमाम मुनव्वर रजा और मुश्लिम समुदाय के कलीम खान एवम अन्य समाज के लोगो ने सामूहिक रूप से रफ़ीक खान के परिवार का समाज से वहिष्कार कर दिया है और किसी भी सामाजिक कार्य में आरोपी के परिवार को नही बुलाने का फैसला लिया, साथ ही आरोपी रफ़ीक को मरने के बाद मस्जिद में जनाजे की नवाज भी नही पढ़ी जायगी और न ही कब्रिस्तान में दफ़नाने के लिए जगह दी जायगी ,भविष्य में ऐसा निंदनीय कृत्य करने वालो के खिलाफ भी जारी रहेगी मुहीम ताकि समाज में बेटियो का सम्मान जारी रहे।
Share To:

Post A Comment: