पूर्व IPS ऑफिसर Sanjiv Bhatt को उम्र कैद की सज़ा मिल गई है. जामनगर सेशन कोर्ट ने संजीव भट्ट को 30 साल पुराने मामले में सज़ा सुनाई है. ये केस 1990 का है जब संजीव भट्ट की कस्टडी में Prabhudas Madhavji Vaishnani की मौत हुई थी. नवंबर 1990 में प्रभुदास सहित 133 अन्य लोगों को भारत बंद के दौरान दंगा फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. 9 दिन तक हिरासत में रहने के बाद उन्हें बेल तो मिल गई थी, लेकिन रिहा होने के 10 दिन के अंदर ही किडनी फेल होने के कारण प्रभुदास की मौत हो गई थी. उस समय असिस्टेंड सुप्रीटेंडेंट ऑफ पुलिस रहे Sanjiv Bhatt पर कस्टडी के दौरान हिंसा का आरोप लगाया गया था. आरोप लगाने वालों में प्रभुदास के भाई सहित अन्य कैदी भी शामिल थे.

Share To:

Post A Comment: