KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

प्रयागराज जिलाधिकारी ने तहसील समाधान दिवस में फूलपुर तहसील में सुनी जनता की समस्यायें
पिछले तहसील समाधान दिवसों के लम्बित मामलों को सत्यापन कर आख्या देने का जिलाधिकारी ने दिये निर्देश
समाधान दिवस में आयी हुई शिकायतों का 5 दिन के अन्दर निस्तारण करने के निर्देश
बरासत व पैमाईश के मामलों में शिथिलता कत्तई बर्दाश्त नहीं की जायेंगी-भानुचंद्र गोस्वामी, जिलाधिकारी
जनता की शिकायतों का सही निस्तारण हमारी प्राथमिकता-जिलाधिकारी
18 जून 2019 प्रयागराज।
जिलाधिकारी, प्रयागराज श्री भानुचंद्र गोस्वामी ने तहसील समाधान दिवस में फूलपुर की जनता की समस्याओं को सुना। तहसील समाधान दिवस में जिलाधिकारी के साथ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक-श्री अतुल शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी श्री अरविंद सिंह, उपजिलाधिकारी फूलपुर-श्री जवाहर लाल, क्षेत्राधिकारी फूलपुर सहित जनपद स्तरीय अधिकारीगण मौजूद थे। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि समाधान दिवस में आयी हुयी समस्याओं का त्वरित निस्तारण गुणवत्तापूर्वक किया जाये।
तहसील समाधान दिवस पर सबसे ज्यादा मामले राजस्व विभाग से आयें, जिस पर जिलाधिकारी ने जिलास्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि पिछले तहसील दिवस में जो भी मामलें अभी लम्बित है, उस आवेदन पत्र को सम्बन्धित अधिकारीगण आज ही सत्यापन कर सायं 05ः00 बजे तक आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये साथ ही उसकी समीक्षा भी आज ही की जायेंगी। तहसील समाधान दिवसों पर आयी हुयी शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए समस्त विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अभी तक जो भी आवेदन आयें है, उसमें से ज्यादातर मामले को निस्तारित किया जा सकता था, जो कि अभी तक नहीं हो पाया है। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को चेताते हुए कहा कि लम्बित मामलों को 02 दिन के अन्दर गुणवत्तापूर्वक निस्तारण कर आख्या प्रस्तुत करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं है। उन्होंने बताया कि जनता की समस्याओं को प्राथमिकता के तौर पर ले। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकारी जमीन पर जों भी कब्जा है, उसका निस्तारण तभी माना जायेगा जब अतिक्रमण हट जायेगा। उसके लिए उन्होंने थानाध्यक्षों को निर्देशित किया कि राजस्व निरीक्षक और लेखपाल के संयुक्त हस्ताक्षर से जो भी आवेदन पत्र पर पुलिस बल की मांग की जाती है, उस पर तत्काल पुलिस बल उपलब्ध कराया जाये तथा सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि जो भी निस्तारण हो वे गुणवत्तापूर्ण हो, निस्तारण के मामले में शिथिलता कत्तई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। लम्बित मामलों के निस्तारण अगले 5 दिन के अन्दर हो जाना चाहिए। यदि किसी मामले में सही निस्तारण नहीं हुआ तो मेरे द्वारा उसका सत्यापन भी कराया जायेगा। उस स्थिति में किसी भी अधिकारी की लापरवाही क्षम्य नहीं होंगी।
जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया कि आज जो भी शिकायतें आयी है, वें सम्बन्धित अधिकारियों को तुरन्त उपलब्ध कराये और इसका सत्यापन कराकर आज ही सायं 05ः00 बजे तक आख्या देने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं ही रोस्टर वाइज चेक करूगा। उन्होंने भूमि की पैमाईस, भूमि पर कब्जे से सम्बन्धित मामलों को संज्ञान में लिया और चेतावनी देते हुए सुधार करने के निर्देश दिये। 
जिलाधिकारी समाधान दिवस में आयी हुई कई शिकायतों का मौके पर ही सुनिश्चित किया। उन्होंने लम्बित पड़े मामलों के निस्तारण के लिए एक सप्ताह का समय दिया। जिलाधिकारी ने समाधान दिवस के अन्त में राजस्व निरीक्षक व लेखपालों के वास्ता आदि का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सम्बन्धित राजस्व निरीक्षक व लेखपालों  को निर्देशित किया कि वरासत पैमाईस के मामलों में यदि लापरवाही पायी गयी तो कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। समाधान दिवस पर लेखपाल कनियार राम कुमार वर्मा बिना कारण बताये अनुपस्थित पाया गया, जिसपर उसका एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया गया। 
तहसील समाधान दिवस पर राजस्व विभाग, पुलिस विभाग, सप्लाई विभाग तथा हाइड्रिल विभाग के मामलें प्रमुख रहें तथा सम्बन्धित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि उच्चगुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित किया जाये।
Share To:

Post A Comment: