रीवा दिनांक  27 जुलाई 2019। आज विन्ध्य  प्रदेश की हृदय स्थली व्यंकट भवन रितुराज पार्क में लोकतंत्र व संविधान बचाने को लेकर समूचे देश से निर्वाचन प्रक्रिया से ई.व्ही.एम. हटाने व वैलेट पेपर से चुनाव कराने की प्रक्रिया वापस लाये जाने को लेकर सर्वदलीय बैठक आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता राष्ट्र सेवादल के मुखिया बृहस्पति सिंह ने किया। बैठक में प्रमुख रूप से समाजवादी नेता  कौशल सिंह, मीसाबन्दी अजय खरे, मीसाबन्दी  रामेश्वर सोनी, मीसाबन्दी सुभाष श्रीवास्तव, अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष एड0 वीरेन्द्र सिंह बघेल, अपना दल के  प्रदेशाध्यक्ष मास्टर बुद्धसेन पटेल, समाजवादी नेता अभय वर्मा, समाजसेवी  धीरेश सिंह गहरवार, जनतादल सेक्युलर के  प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह एड0, सपा के  प्रदेश महासचिव एम.डी. खान, समाजसेवी सुनील अग्रवाल एड0, थर्ड आई फाॅर जस्टिस संगठन के राजीव सिंह परिहार एड0, समाजसेवी  विश्वनाथ पटेल चोटीवाला, जे.डी.एस. के  इदरीश खान माकपा के अमित सोहगौरा, नन्दजी तिवारी, समाजसेवी बद्री प्रसाद कुषवाहा, फौजी  रमेश कुमार पटेल, सपा के नूरूल हसन खान एड0, अधिवक्ता पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल, मोहम्मद आबिद राजू,  शिव कुमार मिश्रा, राधारमण पटेल, शेषमणि पटेल, षिवनाथ यादव, तीरथ प्रसाद,  उमेश सिंह बघेल एड0,  राजेश  पटेल राजेश साकेत आदि ने यह कहा कि आज  विश्व के समूचे  देशों ने पूरी तरह से ई.व्ही.एम. पर प्रतिबंध लगा दिया है, आज हमारे  देश के विपक्षी राजनैतिक दलों को एकराय होकर निर्वाचन आयोग एवं राष्ट्रपति को इस आषय का पत्र भेजना चाहिये कि यदि किसी भी आने वाले चुनाव में ई.व्ही.एम. का उपयोग किया जाता है तो कोई भी दल चुनाव मे भाग नही लेगा। पूर्व मे आये विधानसभा व लोकसभा के परिणाम यह बता दिये हैं कि नरेन्द्र मोदी जनमत के प्रधानमंत्री नही है, ई.व्ही.एम. के प्रधानमंत्री हैं। जे.डी.एस. नेता  शिव सिंह ने बताया कि  देश की चुनावी प्रक्रिया से ई.व्ही.एम को हटाने व लोकतंत्र बचाने के लिये दिनांक 09 अगस्त क्रान्ति दिवस पर कमिश्नर कार्यालय रीवा के समक्ष दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक सर्वदलीय धरना दिया जायेगा। धरना उपरान्त भारत निर्वाचन आयोग, राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन  कमिश्नर रीवा संभाग को सौपा जायेगा।
भवदीय
शिव सिंह एड0


विडियो देखे- 

Share To:

Post A Comment: