रतलाम में 21 निशक्त जोड़ें विवाह के बंधन में बंधे

दूल्हे बैंड बाजे के साथ बारात लेकर आए

महापौर तथा कलेक्टर भी बारात में सम्मिलित हुई

Kkkन्यूज रतलाम- रतलाम कई दिन से चल रही तैयारियों के पश्चात रतलाम में गुरुवार को 21 निशक्त जोड़ों का विवाह धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। शासन की योजना के अनुसार निशक्त जोड़ों को सहायता दी गई। आयोजन स्थल बरबड़ सभाग्रह पर फेरे संपन्न हुए। इसके पहले दूल्हे बैंड बाजे के साथ अपनी बारात लेकर आए। बारात के साथ महापौर डॉ. सुनीता यार्दे, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, एडीएम श्रीमती जमुना भिड़े, एसडीएम श्रीमती लक्ष्मी गामड़, उप संचालक सामाजिक न्याय श्री दिनेश वर्मा आदि अधिकारी कर्मचारी भी चल रहे थे।आयोजन स्थल पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री परमेश मईड़ा नगर निगम नेता प्रतिपक्ष श्रीमती यास्मीन शेरानी भी मौजूद थे। कार्यक्रम में श्री प्रमेश मईड़ा ने अपने उद्बोधन में नवविवाहित जोड़ों के सुखमय जीवन के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की। नगर निगम नेता प्रतिपक्ष श्रीमती यास्मीन शेरानी ने अपने उद्बोधन में कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान निकाह योजना में राशि वृद्धि की जाकर बेटियों की खुशी में इजाफा किया गया है। उन्होंने नवविवाहित जोड़ों को शुभकामनाएं दी। श्री सुरेश धाकड़ ने भी शुभकामनाएं दी।
विवाह समारोह स्थल पर वर वधू के साथ ही उनके रिश्तेदारों, परिचितों में भी खुशी के साथ उत्साह था। सभी तैयारियां व्यवस्थित ढंग से की गई थी। गायत्री परिवार की रतलाम इकाई द्वारा सभी वैवाहिक रस्में पूरी करवाई गई। दुल्हनों को महिला बाल विकास विभाग की कार्यकर्ताओं द्वारा मेहंदी लगाई गई, श्रंगार भी करवाया गया। बारात लेकर आने वाले दूल्हों के लिए बग्गीयों की व्यवस्था की गई थी।  वैवाहिक रस्में पूरी होने के बाद वर-वधूओं का फोटो सेशन भी हुआ।सामूहिक विवाह आयोजन में विवाह करने वाले जोड़ों को शासन की निशक्त विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत जोड़े में से एक के दिव्यांग होने पर 2 लाख रूपए तथा दोनों के दिव्यांग होने पर 1 लाख रूपए की राशि प्रदान की गई है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 48 हजार रूपए भी वधू के खाते में जमा किया गए हैं स्वास्थ्य विभाग तथा महिला बाल विकास विभाग द्वारा किट भी प्रदान किए गए। महिला बाल विकास विभाग के किट में मेकअप सामग्री तथा शासकीय योजनाओं का साहित्य सम्मिलित किया गया था। स्वास्थ्य विभाग के किट में टावेल नैपकिन दर्पण कंघा आदि सामग्री थी। कार्यक्रम का संचालन श्री आशीष दशोत्तर ने किया।



Share To:

Post A Comment: