प्रधान मंत्री आवास बहुत ही लाभप्रद योजना हैं।

गरीबों को मिल रही थी छत योजना से हुए बड़े स्तर में लाभान्वित गरीब हितग्राही एकाएक प्रधानमंत्री आवास में अल्पसंख्यक पिछड़ा को छोड़ा जा रहा है ।

 जिसमें अल्पसंख्यक जर्नल पिछड़ा वर्गों को छोड़कर अब आदिवासी दलितों को ही मिल पाएगा धानमंत्री आवास का लाभ

 जहां ग्राम पंचायतों में आवासों की लंबी लिस्ट दिख रही थी अचानक लिस्टों मैं आधे से भी कम हिग्राही के नाम नजर आ रहे हैं।

 जनपद पंचायतों में भी भारी संख्या में आवासों से हितग्राहियों के नाम गायब हुए सरपंच सचिवों को जवाब देना हो रहा मुश्किल

 जबकि हितग्राहियों ने अपने नाम पोर्टल में दर्ज देखे और उससे प्रभावित होकर  इस्तेमाल किया था अपना मत अधिकार 

आवास के लिए अपनी प्रसंन्नता जाहिर कर रहे थे ।

अचानक से उनका मनोबल टूटता नजर आ रहा है ।

जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा का मामला जहां आवासों की संख्या 6000 देखी जा रही थी अचानक से आवासों की संख्या 600 की गई 

वहीं अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भी आवास योजना से हो रहे  वंचित ।

जिससे आमजन के अंदर एक आक्रोश नजर आ रहा है सरकारों को चाहिए कि  योजनाओं में सामान व्यवहार करने की कोशिश करे  

प्रधानमंत्री आवास का लाभ जिस तरीके से सभी समाज वर्गों के लोगों को मिल रहा था उसी तरीके से सभी  को दिया जाए 

ताकि सभी गरीब वर्गे के लोग इससे लाभान्वित हो सकें

 प्रधानमंत्री आवास बड़ी लाभप्रद योजना मानी जा रही थी लेकिन सरकार के द्वारा व्यवस्थाओं को बदलने से जनता का मनोबल टूट रहा है उसे उसी स्थिति में लाने के लिए सरकारों को चाहिए कि कार्य करें

तब जाकर हासिल होगा सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास

उम्मीद है कि हमारे इस लेख  पर ध्यान देते हुए सरकार जरूर सबको प्रधानमंत्री आवास के लाभ से लाभान्वित करने की करेगी धन्यवाद

 जय हिंद

     लेखक 
अब्दुल कादिर खान
 कलयुग की कलम 
 मोबाइल नंबर 9753687589
Share To:

Post A Comment: