चित्रकूट- जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये कि वह प्रतिदिन आई.जी.आर.एस. पोर्टल को देखेंगे और समयान्तर्गत पोर्टल पर दर्ज शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता पूर्ण तरीके से करना सुनिश्चित करेंगे। किसी भी दशा में कोई भी शिकायत डिफाल्टर श्रेणी में न हो। अन्यथा उन विभागों के अधिकारियों के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि मा0 मुख्यमंत्री संदर्भ के अंतर्गत जिन अधिकारियों ने मा0 मुख्यमंत्री जी के यहां से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण नहीं किया है। उनका माह जुलाई 2019 का वेतन रोकने के आदेश दिये हैं। इनमें अधिशाषी अभियंता जल निगम यूनीसेफ,उप जिलाधिकारी मानिकपुर तथा मऊ,परियोजना अधिकारी डूडा,अधिशाषी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा,उपायुक्त मनरेगा,जिला पंचायत राज अधिकारी,जिला कृषि अधिकारी ,प्र0जिला समाज कल्याण अधिकारी,खण्ड विकास अधिकारी पहाड़ी। इसी प्रकार ऑन लाइन संदर्भों का (एल-1),प्रथम स्तरीय अधिकारियों द्वारा निस्तारण समय से न करने पर जिला विद्यालय निरीक्षक,प्रभागीय लौंगिक प्रबंधक,वन विभाग,सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) पहाड़ी, पूर्ति निरीक्षक राजापुर व कर्वी,प्रभारी जिला समाज कल्याण अधिकारी (विकास),खण्ड विकास अधिकारी कर्वी तथा उक्त के अतिरिक्त मा0 मुख्यमंत्री जी के हेल्पलाइन (एल-1)प्रथम स्तरीय अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। जिनके संदर्भ डिफाल्टर श्रेणी में अवशेष हैं।

ब्यूरोचीफ विवेक श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं दैनिक वेब न्यूज चैनल
जनपद-चित्रकूट
Share To:

Post A Comment: