राज्य महिला आयोग की  सदस्य  अनीता सचान ने सुनी पीड़ित महिलाओं की समस्यायें

KKK न्यूज़ रिपोर्टर
        नैनी
    सुभाष चंद्र

महिलाओं से सम्बन्धित लम्बित प्रकरणों को त्वरित निस्तारित करने के सदस्य राज्य महिला आयोग ने दिये सख्त निर्देश    

17 जुलाई 2019 प्रयागराज।
उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग द्वारा प्रदेश में महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीडित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने तथा आवेदक आवेदिकाओं की सुगमता की दृष्टि से सर्किट हाऊस, प्रयागराज में महिला जन सुनवाई समीक्षा बैठक श्रीमति अनीता सचान सदस्य राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की अध्यक्षता मे की गयी। सदस्य ने महिला जन सुनवाई में आयी पीड़ित महिलाओं की शिकायती प्रार्थना पत्रों को देखा। उन्होंने पीडित महिलाओं से बारी-बारी से उनकी समस्याओं को सुना तथा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रकरण को प्राथमिकता के आधार लेते हुए निस्तारित किया जाय।
सरकिट हाऊस में महिला जन सुनवाई में पीड़ित महिलाओं ने अपनी समस्याओं को सदस्य, राज्य महिला आयोग के समक्ष रखी। सदस्य ने महिलाओं की समस्याओं को सुना। अधिकारियों से कहा कि इस जनसुनवाई में आये हुए प्रकरण की प्रगति रिपोर्ट 15 दिन के अन्दर आनी चाहिए। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि महिला उत्पीड़न से सम्बन्धित प्रकरण को लम्बित न रखा जाय बल्कि उसका मौके पर जाकर त्वरित निस्तारण की कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाय। उन्होंने महिला जन सुनवाई में विभिन्न प्रकरणों को सुना। जनसुनवाई में शान्ति देवी पत्नी संकठा प्रसाद सिंह वार्ड नं0-6 धरम नगर, शंकरगढ़ ने शिकायत की उनकी लड़की को प्रताड़ित किया जा रहा है, उसके साथ मारपिट भी होती है। इसी तरह की शिकायत श्वेता तिवारी उर्फ रागिनी नि0 कसारी-मसारी चकिया ने भी उत्पीड़न की शिकायत की, जिसपर  महिला आयोग की सदस्य ने तुरन्त कार्यवाही करने को निर्देशित किया एवं सरायइनायत से आयी महिला रीता यादव ने जमीन जायदात के मामलों में मिल रही धमकी की शिकायत की एवं इसी प्रकार की शिकायत चमेला देवी पत्नी नरेन्द्र कुमार कोल आदिवासी जो कि करछना के निवासी थी, उन्होंने मकान पर कब्जे को लेकर शिकायत दर्ज करायी तथा उत्पीड़न के सम्बन्ध में शिल्पा अग्रवाल निवासी राजरूपपुर ने पुलिस द्वारा कार्यवाही ने किये जाने के सम्बन्ध में शिकायत दर्ज की। इसी तरह एक अन्य प्रकरण में आयी स्टाफ नर्स स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय सरिता सिंह ने छेड़खानी की शिकायत करते हुए बताया कि एफआईआर होने के बाद भी कार्यवाही नहीं हो रही है। उन्होंने महिला आयोग की सदस्य को बताया कि वह पिछली जन सुनवाई में भी अपनी शिकायत दर्ज करायी थी। जिसपर सदस्य ने तुरन्त कार्यवाही का आश्वासन देते हुए उचित कार्यवाही का निर्देश दिया। महिला जन सुनवाई में कुल 16 प्रकरण आयें। जिनका तुरंत मौके पर सम्बन्धित थानों में बात की और कार्यवाही का भरोसा दिलाया।
राज्य महिला आयोग की मा. सदस्य  अनीता सचान ने बताया कि हर माह के प्रथम या तृतीय बुधवार को महिला जन सुनवाई आयोजित की जाती है। जिसमे पीडित महिला अपनी शिकायत लेकर आ सकती है जिसका निस्तारण सम्बन्धित अधिकारियों की उपस्थिति में सुनिश्चित करवाया जाता है।
महिला आयोग की जनसुनवाई में इस बैठक में एसीएम द्वितीय, एस0पी0 गंगापार, जिला प्रोबेशन अधिकारी एवं सहायक सुरेन्द्र कुमार यादव के साथ अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहें ।
Share To:

Post A Comment: