आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र की राशि खुर्द बुर्द करने का मामला पर्यवेक्षक पर लगे गंभीर आरोप शासन प्रशासन के द्वारा महिला एवं बाल विका स विभाग के द्वारा आगनबाड़ी केंद्रों में विशेष व्यवस्था बनाने के लिए आदर्श आंगनवाड़ी केंद्रों की व्यवस्था बनाई जा रही है लेकिन जिम्मेदारों के द्वारा आदर्श आगनबाडी केंद्रों में आई राशि का बंदरबांट किया जा रहा है ऐसा ही एक मामला तहसील क्षेत्र के ग्राम देगवा महगवा स्थित आंगनवाड़ी केंद्र का है जानकारी के अनुसार आगनबाडी कार्यकर्ता सखी यादव का केंद्र आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र के लिए तकरीबन 10 माह पूर्व चयनित हुआ था जिसमें  50 हजार की राशि व्यवस्था बनाने के लिए आई थी खमतरा सेक्टर के तत्कालीन पर्यवेक्षक राम अवतार वर्मा के द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से 20 हजार की राशि तकरीबन 6 से 7 माह पूर्व कार्यकर्ता से ले ली गई जिसे देने में आनाकानी की जा रही थी जिस के संबंध में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा वर्तमान पर्यवेक्षक माधुरी रामटेके और परियोजना अधिकारी  आरती यादव को जानकारी दी गई इस संबंध में परियोजना अधिकारी आरती यादव से जब चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि कार्यकर्ता के द्वारा मौखिक रूप से जानकारी दी गई है कि पर्यवेक्षक वर्मा ने  20 हजार अपनी बेटी के एडमिशन के लिए थे जिसे वापस करने में आनाकानी की जा रही है वर्मा को निर्देश दिए गए हैं राशि जल्द से जल्द जमा करवाएं ताकि आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र का कार्य हो सके क्षेत्र में शासकीय राशि का निजी उपयोग करने के संबंध में चर्चा जोरों पर है शासकीय कार्य की राशि कोई शासकीय कर्मचारी अपने निजी उपयोग में कैसे ले सकता है इनका कहना नयन सिंह जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग यह मामला संज्ञान में आया है मामले की जांच करवाई जाएगी आरोप सिद्ध होने पर नियमानुसार वैधानिक कार्रवाई की जाएगी शासकीय राशि का उपयोग शासकीय कर्मचारी के द्वारा निजी उपयोग में करना ऐसा कोई प्रावधान नहीं. 
विडियो देखे- 
कार्यकर्ता सखी यादव द्वारा दिए गए कथन का वीडियो


पर्यवेक्षक राम अवतार वर्मा द्वारा दिए गए कथन का वीडियो


महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी सुश्री आरती यादव द्वारा दिए गए कथन का वीडियो
Share To:

Post A Comment: