कुमार मंगलम बिड़ला के दादा बीके बिड़ला का निधन

कुमार मंगलम बिड़ला के दादाजी और बीके बिड़ला ग्रुप कंपनीज के चेयरमैन बीके बिड़ला का निधन हो गया है। वो 98 साल के थे। बीके बिड़ला ग्रुप की कंपनियों में सेंचुरी टेक्सटाइल्स और केसोराम शामिल हैं। उनका पूरा नाम बसंत कुमार बिड़ला है। उनका जन्म 12 जनवरी 1921 में हुआ था। बीके बिड़ला घनश्यामदास बिड़ला के सबसे छोटे बेटे थे। वो सिर्फ 15 साल की उम्र से कारोबार के साथ जुड़ गए थे।

उन्होंने एक बार कहा था कि मैं 90 साल की उम्र में रिटायर होना चाहता है। उन्होंने ये बात केसोराम इंडस्ट्रीज की 88वी वार्षिक बैठक में कही थी। उन्होंने कहा था कि वो अपना समय आर्ट और कल्चर की गतिविधी को देना चाहते हैं।

बीके बिड़ला चाहते थे कि उनकी सभी कंपनियों की चेयरमैनशिप कुमार मंगलम बिड़ला ले ले। पर कुमार मंगलम बिड़ला ने उनसे उनके पद पर बने रहने के लिए कहा। बीके बिड़ला अप्रैल में पिलानी इन्वेस्टमेंट बोर्ड से बाहर हो गए थे। बीके बिड़ला ने सिर्फ 15 साल की उम्र में ही केसोराम इंडस्ट्रीज का कारोबार संभाल लिया था। उन्होंने खुद के प्रयासों से सेंचुरी टेक्सटाइल्स कंपनी को खड़ा कर उसके कारोबार को बढ़ाया।

उनको केसोराम इंडस्ट्रीज में 1940 में डायरेक्टर का पद संभाला था। उनको कारोबार जगत में 70 साल का अनुभव है। इसके अलावा बीके बिड़ला कई चेरिटेबल ट्रस्ट और शिक्षा संस्थानों से जुड़े हुए थे। बीके बिड़ला सेंचुरी एंका, सेंचुरी टेक्सटाइल्स, जय श्री टी और बीके बिड़ला फाउडेंशन जैसी कंपनियों में कई पद संभाल चुके थे।
Share To:

Post A Comment: