महिला कृषि उद्यमियों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

KKKन्यूज रिपोर्टर कटनी- जो प्रशिक्षण में सीखा है उसे जीवन में उतारें। संगठन में शक्ति है। हम सभी समूह/कई लोग एक साथ मिलकर कार्य करेगें तो बाजार एवं व्यापार में सुविधा होगी। उक्त बातें जिला विकास प्रबंधक (डीडीएम) नाबार्ड एम.धनेश ने म.प्र.राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला कटनी द्वारा ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) कटनी के सहयोग से आयोजित “महिला कृषि उद्यमी प्रशिक्षण“ के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित होकर व्यक्त किये। जिला परियेाजना प्रबंधक, म.प्र.राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला कटनी शबाना बेगम ने अपनी बात रखते हुये गोबर, गौमूत्र एवं जैविक खादों के महत्व की विस्तार से जानकारी दी तथा ग्रामों में निर्माण होने वाली गौशालाओं से समूहों को मिलने वाले लाभ को भी बताया। प्रभारी जिला प्रबंधक कौशल उन्न्यन एवं रोजगार म.प्र.राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला कटनी राम सुजान द्विवेदी ने कहा कि हम सभी अपने घरों से कार्य प्रारम्भ करे। हमने जो कुछ सीखा है उसका प्रयोग करेगें तभी आत्मनिर्भर बन सकते हैं। सभी अब अपने-अपने घरों में पोषण वाटिका बनायें, ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण करायें एवं जैविक खादों का प्रयोग करें तभी बदलाव आयेगा। जिला प्रबंधक लद्यु उद्यमिता विकास म.प्र.राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला कटनी अंकिता मरावी, ने महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा गतिविधियों से जुडकर लाभ लेने की बात कही। प्रशिक्षणार्थी अंजना सिंह ठाकुर, उमा ठाकुर बहोरीबन्द, ममता ठाकुर,  सुमन तिवारी रीठी, सरोज पटेल, सुमन केवट विजयराघवगढ, ममता विश्वकर्मा बडवारा, ने प्रशिक्षण के दौरान सीखी बातों का अनुभव साझा करते हुये बताया कि प्रशिक्षण के दौरान हम जैविक खाद, जैविक कीटनाशकों का निर्माण, केंचुआ खाद, हरीखाद निर्माण, परम्परागत खेती के साथ फूलों, फलों की खेती, बंजर जमीन को उपजाउ बनाने सींग खाद का निर्माण, रासायनिक खाद एवं जैविक खाद में अंतर बीज एवं अनाज में अंतर, मधुमख्खी पालन, मछली पालन इत्यादि के महत्व को समझा तथा हम सबने संकल्प लिया है कि “हम सब कम से कम 10-10 पौधों का रोपण करवायेगें एवं अपने-अपने गॉव में पोषण वाटिका बनवायेगें।“
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संचालक आरसेटी कटनी के.के.राय ने उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत किया एवं अपनी बात रखते हुये बताया कि सभी प्रशिक्षणार्थी जिज्ञासु है पूरी लगन के साथ प्रशिक्षण लिया है। साथ ही बताया कि इस प्रशिक्षण में आजीविका मिशन के सहयोग से कुल 22 प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न विषय विशेषज्ञों जिनमें जिला परियोजना अधिकारी उद्यानिकी वीरेन्द्र सिंह, कृषि वैज्ञानिक एस.के.सिंह, जैविक कृषि पाठशाला नैगवां के संचालक राम सुख दुबे, विकासखण्ड प्रबंधक आजीविका मिशन विजयराघवगढ ईश्वर चन्द त्रिपाठी के द्वारा विभिन्न विभागों एवं शासकीय योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई। इसी दौरान प्रशिक्षणार्थियों को जिला पंचायत कटनी में बने रूफ टॉप गार्डन में जैविक कीटनाशक एवं जैविक खादों का प्रयोग कराया गया तथा विकासखण्ड कटनी के ग्राम भनपुरा नम्बर-2 में फूलों एवं फलों की खेती का एक्सपोजर कराया गया। कार्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों द्वारा स्वागत गीत एवं अन्य जागरूकता सम्बन्धी गीत प्रस्तुत किये गये।

सोनू त्रिपाठी ग्रामीण रिपोर्टर कलयुग की कलम कटनी
Share To:

Post A Comment: