दूषित पानी से गम्भीर बिमारियों की चपेट में आ  सकता है  ग्राम

पिंण्डरई

K.K.K.NEWS PRESS 

कटनी जिला- ढीमरखेड़ा जनपद से लगभग 3 किलोमीटर के अंतर्गत ग्राम पंचायत पिंण्डरई में दूषित जल संकट के चलते ग्रामीणों एवं सरपंच,उपसरंच अनेको बार शिकायत की गई ।वाटर सफलाई में अनेको जगह पूर्व से टूट फूट है परन्तु पी.एच.ई विभाग ने नजर अंदाज कर दिया गया है। यदि वाटर सप्लाई में जिम्मेदार अधिकारीयों द्वारा ध्यान नहीं दिया गया तो डायरिया, पीलिया, जैसे अनेकों बिमारियों के ख़तरों का सामना करना पड़ सकता है। वाटर सप्लाई से लगभग चार , पांच सौ परिवार इस गंदे पानी का उपयोग पीने के लिए करते हैं। जबकि शासन ने संक्रामक रोगों से बचने के लिए दबाईयों की ब्यवस्था समय समय पर की जाती है। किन्तु पी एच ई विभाग के अधिकारियाें द्वारा बहाना बनाते हुए पल्ला झाड़ लेते हैं। उपस्थित सरपंच फूला सिंह, सचिव, यूसुफ खान, उपसरपंच मनोज तिवारी, गोविंद गिरी, भूरा कोल,चैतराम, बलीराम,कोदू बर्मन, संतोष पटेल,प्रमोद पटेल,दीपक,संजू एवं अन्य ग्रामवासियों की मौजूदगी रही है।

इनका कहना

 सुचारू रूप से पेयजल चल रही है जो भी टुटफूट है वह ग्राम पंचायत को सुधार कार्य करना चाहिए क्योंकि वाटर सप्लाई में लगभग चार सौ कनेक्शन है जिसकी आय अनुमानित बीस हजार रूपये होगी।

पी एच ई इंजीनियर

बी.पी.चक्रवर्ती

बारिश के मौसम में अनेकों प्रकार की बिमारियां जैसे पीलिया,हैजा, यह बिमारियां दूषित पानी से होती है।

डॉ.संजय निगम, चिकित्सक

Share To:

Post A Comment: