KKK न्यूज रिपोर्टर
         नैनी
     सुभाष चंद्र

डॉट पुल के साइड रोड ध्वस्त नया यमुना पुल का परेड ग्राउंड साइड जलमग्न

प्रयागराज, 06 जुलाई 2019। विश्व प्रसिद्ध कुम्भ 2019 में अरबों रुपये पानी की तरह बहाकर संगम नगरी प्रयागराज को सजाकर लोगो का ध्यान आकर्षित करने वाली उत्तर प्रदेश सरकार की पोल पहली हल्की बारिश ने ही खोलकर रख दी है।
    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार से भी आर्थिक सहयोग लेकर विश्व प्रसिद्ध कुम्भ 2019 में लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए अरबो रुपये पानी की तरह बहाकर संगम नगरी प्रयागराज को सजाने का दावा किया था व आनन फानन में ऊपर से ही सही कार्यदायी व कार्यकारी संस्थाओं ने सड़को को रँगा पुता दिखाकर इतिश्री भी कर लिया था परंतु आज रात की पहली व बेहद हल्की  बरसात ने उपरोक्त कार्यों की व उत्तर प्रदेश सरकार की अपने मुंह मिंया मिट्ठू की कहावत की पोल खोलकर रख दिया। आज दिन में 01 बजे न्यूज रिपोर्टर टीम ने प्रयागराज के वीआईपी इलाकों के भ्रमण के दौरान पाया कि सीएमपी डॉट पुल आदि की पूरी साइड रोड ध्वस्त व जलमग्न हो गई है जिसमे घुसकर व जान जोखिम में डालकर राहगीर चलने को मजबूर हैं। इसी प्रकार प्रयागराज की शान कहे जाने वाले नए यमुना ब्रिज का परेड ग्राउंड पूरी तरह जलमय हो गया है। बड़ा सवाल यह है कि कुम्भ 2019 के धार्मिक आयोजन के नाम पर अरबों के कार्य में भी भयावह आर्थिक घोटाला करने वाली कार्यदायी व कार्यकारी संस्थाओ पर क्या कोई कार्यवाही होगी भी या नही? जबकि पहली हल्की बारिश ने स्वयं प्रत्यक्ष प्रमाण सामने रख दिया है तो मोस्ट वीआईपी शहर प्रयागराज जोकि हाई कोर्ट, मा0 उप मुख्यमंत्री, अनेकों मंत्रियों, सत्तारूढ़  विधायकों व सांसदों का गढ़ है उसके हर्ट प्लेस में इतने बड़े घोटाले का जिम्मेदार कौन होगा? फिलहाल प्रयागराज के लोग उपरोक्त घोटाले से मर्माहत व आक्रोशित हैं तथा अभी भी मोदी जी व योगी जी से घोटालेबाजों के विरुद्ध कड़ी व विधिक कार्यवाही चाहते हैं।



Share To:

Post A Comment: