कुछ पंक्तियां आप सब को समर्पित कर रहा हूं  कहीं कोई कमी कसर गलती हो तो क्षमा प्रार्थी हुं

राष्ट्रभक्ति का ऐसा चश्मा कभी ना हमने देखा था जो मानवता से भेद करे राष्ट्र भक्त न हो सकता हैं
 सत्ता चुनाव का झगड़ा आ पहुंचा है धर्म पर अब तो मीडिया में भी चर्चे  जात पात और गोत्र पर

 कहां गई अटल की शिक्षा  राज धर्म के पालन की
  शुरू हो गई अब तो भर्ती सत्ता में गद्दारों की

 वो मन भर मुस्लिम जगा ले
तुम पेट भर हिंदू जगा लो।


दोनो जागकर देश जला दो
तृप्ति मिल जायेगी दोनो को

देश बर्बादी में हाथ बटा लो
पीटो छाती धर्म के खातिर 

आका का मन रखो तुम
देश भले ही भाड़ में जाय

फ़ायदा अपना रखो तुम
तुम धर्म के पागल कुत्ते 
रोटी के मोहताज हो 

तुम्हारा नकली राष्ट्रवाद और नकली भारतीयता
आग लगे इन्हें चुल्हे की

तुमको क्या लेना हैं फ़ांसी 
राम-आश्फ़ाक़ झुले भी

आग न लगे देश को गर तो
रोटी कैसे खाओगे 

पर चेतावनी याद रखना
मुझसे भी टकराओगे

देश पर गर आँच भी आयी
माटी में मिल जाओगे

तांडव देखोगे तुम मेरा
धर्मांधो इतना याद रहे

मुझ जैसे पागलो से भिड़ कर
मौत को भी तरस जाओगे

अर्जुन अब्दुल साथ रहेंगे
देश की आन बचाने को

लगा लेना तुम अधर्म की ताक़त
फ़िर भी ना बच पाओगे

वादा मेरा इतना सा हैं 
जीते जी न बख्सेंगे
अल्लाह हो या राम वाले हो
मौत को दोनो तरसेंगे

हम देश बचाने के खातिर अब तुमसे भी टकरायेंगे 
राम नाम से मरने वालों को अपने गले लगाएंगे

तुम बलात्कारियों का समर्थन कर कहते हो खुद को हिंदू का नेता

तुम गाय माता की सौदा करते हो कहते खुदको कट्टर हिन्दू हो

तुम देश बेच कर कियूं फिरते हो मुल्क मुल्क देश विदेश 

तुमने पहनाया हम सब को राष्ट्र भक्ति का झुठा चश्मा

बेचा जब से एयर इंडिया लालकिला ओर bsnl

बैंक लूट कर भागे जबसे  उद्योगपति रिश्तेदार

कहां गए थे देशभक्त और कहां गए थे चौकीदार

क्यों कर रहे हो गंदा सत्ता के गलियारों को 
दे देते हो टिकट संसद की राष्ट्र द्रोही गद्दारों को

 जो हिंदू मुस्लिम को बांटे वह इंसान नहीं हो सकता पर यह बात बड़ी लिख रहा हूं

पाखंडी हो सकता है लेकिन हिंदू और मुसलमान नहीं हो सकता

इस देश का युवा बेरोजगार हुआ है तुम दिख रहे डिस्कवरी में
कब तक पेट भरेगा युवा घर परिवार की गाली में

 जिस दिन युवा निकला सड़कों पर तो मचेगा हाहाकार
 हिल जाएगी दिल्ली  गीरैगे  *सिंहासन और सरकार

कुछ पंक्तियां  देश को समर्पित
लेखक
 अब्दुल कादिर खान की
Share To:

Post A Comment: