कलेक्टर ने किसानों से प्रधानमंत्री फसल बीमा कराने की अपील 

फसलों का बीमा करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई

Kkkन्यूज कटनी- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत खरीफ वर्ष 2019 एवं रबी वर्ष 2019-20 के लिए बीमा करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित की गई है। कलेक्टर शशिभूषण_सिंह ने जिले के किसान भाइयों से नियत तिथि तक फसल बीमा कराने की अपील की है। जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्रियान्वयन का दायित्व ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी को सौंपा गया है। जिले में कम्पनी के समन्वयक नारायण पटेल को नियुक्त किया गया है, जिनका मोबाईल नम्बर 9131316712 है।किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक ए0के0 राठौर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बैंकों, लोकसेवा केन्द्रों, अधिकृत बीमा एजेन्टों को तय समय-सीमा के भीतर फसल बीमा करना होगा। इसके अलावा स्वयं ऋणी एवं अऋणी कृषकों का भी फसल बीमा किया जा सकेगा। खरीफ 2019 की सभी फसलों के लिए स्केल ऑफ फाइनेंस के 75 फीसदी का 2 प्रतिशत तथा रबी फसलों के लिए डेढ़ फीसदी या वास्तविक दर जो भी कम हो कृषक अंश प्रीमियम काट कर फसल बीमा करना तय किया गया है। योजना के प्रावधान के तहत सभी फसलों की बीमित राशि को उनके स्केल ऑफ फाइनेंस का 75 फीसदी किया गया है।कलेक्टर शशिभूषण_सिंह ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने की अपील जिले के अऋणी किसानों से की है। उन्होने कहा है कि जिले की असिंचित व सिंचित धान, जिनकी इकाई पटवारी हल्का है एवं तिल तहसील विजयराघवगढ़ तथा उड़द की फसल को समस्त जिले के लिये अधिसूचित किया गया है। किसान प्रति हैक्टेयर स्केल ऑफ फाईनेन्स के 75 प्रतिशत राशि का 2 प्रतिशत प्रीमियत धान सिंचित के लिये राशि 540 रुपये प्रति हैक्टेयर, धान असिंचित के लिये राशि 375 रुपये प्रति हैक्टेयर, तिल के लिये राशि 255 रुपये प्रति हैक्टेयर एवं उड़द के लिये 375 रुपये प्रति हैक्टेयर के हिसाब से जमा कर अधिसूचित फसल का बीमा अवश्य करायें।
फसल बीमा कराने के लिये आवश्यक दस्तावेजों में भू अधिकार पुस्तिका (बही) के साथ पूर्णता भरा हुआ फॅार्म और पटवारी या ग्राम पंचायत से जारी बुवाई प्रमाण पत्र, आधार या वोटर आईडी या राशन कार्ड या पैनकार्ड की फोटोकॉपी लेकर किसान अपने नजदीकी बैंक शाखा या जिस बैंक में खाता संचालित हो, वहां जाकर किसान फसल बीमा करा सकते हैं। इसके लिये जिले के समस्त बैंकों के प्रबंधकों को बीमा कराने के लिये आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।बोनी प्रमाण पत्र तत्काल उपलब्ध कराने के लिये जिले के समस्त पटवारियों, पंचायत सचिवों को भी निर्देशित किया गया है।जिसके संबंध में किसी भी प्रकार की कठिनाई होने पर संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, लीड बैंक मैनेजर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला सहकारी बैंक को सूचित करें। इसके साथ ही सभी विकासखण्डों में बैंक शाखाओं में बीमा शिविरों का भी आयोजन किया जायेगा, जिससे किसान फसल बीमा का लाभ ले सकें।
कलेकटर श्री सिंह ने जिले के किसानों से अपील की है कि आवश्यक रुप से अपनी फसलों का फसल बीमा करायें। जिससे मौसम की विपरीत परिस्थितियों या आपदा के जोखिम से बच सकें एवं फसल बीमा का लाभ प्राप्त कर सकें।

सोनू त्रिपाठी ग्रामीण रिपोर्टर कलयुग की कलम कटनी
Share To:

Post A Comment: