Kkkन्यूज कटनी- कलेक्टर शशिभूषण_सिंह ने राज्य शासन की मुख्यमंत्री युवा उद्यमी, आर्थिक कल्याण, मुख्यमंत्री स्वरोजगार सहित विभिन्न स्वरोजगार की योजनाओं में टीएफसी उपरांत बैंकों में लक्ष्यानुसार प्रकरण भेजकर स्वीकृति और वितरण की कार्यवाही शीघ्र कराने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होने औद्योगिक क्षेत्र विकास निगम के अधिकारियों को औद्योगिक क्षेत्र लमतरा, अमकुही की स्थानीय समस्याओं का शीघ्र निदान कर औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन की गतिविधियां संचालित करने के निर्देश भी दिये है। इस मौक्े पर क्षेत्रीय कार्यालय के महाप्रबंधक एकेवीएन एस0के0 जैन, प्रभारी महाप्रबंधक उद्योग केन्द्र, एलडीएम अमीनाथ महाली, परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण अभय मिश्रा, जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण सरिता नायक, जिला रोजगार अधिकारी डी0के0 पासी भी उपस्थित थे।कलेक्टर श्री सिंह ने औद्योगिक क्षेत्र लमतरा और अमकुही में पेयजल, विद्युत आपूर्ति, कचरे के निपटान की व्यवस्था आदि स्थानीय समस्याओं का निराकरण कर जिले की संभावनाओं के अनुसार स्वीटकॉर्न फूड प्रोसेसिंग यूनिट के क्षेत्र में औद्योगिक प्रोत्साहन की गतिविधियां चलाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उद्योग केन्द्र, अल्पसंख्यक कल्याण एवं पिछड़ा वर्ग, अन्त्यावसायी, आदि जाति, नगरीय निकाय संस्थाओं, पशुपालन विभाग द्वारा संचालित मुख्यमंत्री युवा उद्यमी, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, कृषक उद्यमी योजना, आचार्य विद्या सागर योजना सहित स्वरोजगार योजनाओं में निर्धारित लक्ष्यों के विरुद्ध पर्याप्त प्रकरण तैयार कर टीएफसी उपरांत बैंकों में प्रेषित करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि नगरीय निकाय संस्थाओं, पिछड़ा वर्ग, अन्त्यावसायी, एनआरएलएम, और आदिम जाति कल्याण विभाग की स्वरोजगार योजना में ऑनलाईन आवेदन का पोर्टल शुरु होते ही पहले से तैयार प्रकरण बैंको को प्रेषित करना सुनिश्चित करें। इसके पहले प्राप्त आवेदनों की स्क्रुटनी और आवश्यक औपचारिकता पूर्ण कर टीएफसी कराकर प्रकरणों को तैयार रखें। 
पशुपालन विभाग की आचार्य विद्या सागर योजना में जिले का पोटेन्शियल देखते हुये कलेक्टर श्री सिंह ने स्वीटकॉर्न उत्पादन वाले क्षेत्रों में योजना का विस्तार करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि स्वीटकॉर्न का शेष भाग पशुओं के फोडर के रुप में उपयोग किया जा सकता है। इसी तरह आजीविका मिशन के अन्तर्गत तेवरी क्षेत्र में मक्के के उत्पादों की फूड प्रोसेसिंग के लिये भी स्वसहायता समूह बनाने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि जिले में 30 गौशालायें स्थापित करने के लक्ष्य अनुरुप 26 गौशाला निर्माण की तकनीकी स्वीकृति जारी हो गई है। शेष 4 गौशालाओं की तकनीकी प्रशासकीय स्वीकृति लेकर शीघ्र निर्माण शुरु करायें। कौशल उन्नयन प्रशिक्षण आईटीआई, रोजगार विभाग की समीक्षा करते हुये कलेक्टर ने जिले में रोजगार मेला आयोजित कर प्रशिक्षित बेरोजगारों को नियोजित कराने की कार्यवाही भी करने के निर्देश दिये।

सोनू त्रिपाठी ग्रामीण रिपोर्टर कलयुग की कलम कटनी


Share To:

Post A Comment: