चित्रकूट- जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में जल शक्ति अभियान से संबंधित बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई।बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जल संचयन,संरक्षण तथा संवर्द्धन हेतु जन मानस को जागरूक किया जाय। इसके लिए ग्राम स्तर पर जागरूकता हेतु ग्राम पंचायतों में जल संरक्षण गोष्ठियां कर जल की महत्ता तथा इसके कम होने पर भविष्य के प्रभावों पर चर्चा कर जागरूक किया जाय। इसी प्रकार स्कूलों/कालेजों में गोष्ठियां तथा वाद-विवाद प्रतियोगिताएं कराकर स्कूली बच्चों में जल संरक्षण हेतु कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया जाय। उन्होंने कहा कि जो नये निर्माण कार्य हो रहे हैं उनके रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम जरूर बनाय जाय। इसपर कड़ाई से कार्यवाही की जाय। सभी को बताना है कि जल संचयन संरक्षण तथा संवर्द्ध्रन के समस्त उपायों को अपनाकर भूमिगत जल स्तर को बढ़ाना है तभी शुद्ध पेयजल पीने को मिल पायेगा। यदि हम जल संरक्षण नहीं करेंगे और लगातार इसको दोहन करते रहेंगे तो यह एक दिन समाप्त हो जायेगा और जीवन संकटमय हो जायेगा क्योंकि बिना जल के जीवन असंभव है इसलिए वर्षा जल को तालाबों,पोखरों,सूखे कुओं में एकत्र कराना होगा तभी जल संरक्षण हो सकेगा।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डा0 महेन्द्र कुमार,मुख्य चिकितसाधिकारी डा0 राजेन्द्र सिंह,मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 सुधीर सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश, जिला विकास अधिकारी आर0के0त्रिपाठी,जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम,अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी नरेन्द्र मोहन मिश्रा,जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेश कुमार यादव तथा अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग,सिंचाई,जल निगम,आर.ई.एस.,लघु सिंचाई आदि संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

मंडल प्रभारी अश्विनी कुमार श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार एवं दैनिक वेब न्यूज चैनल
जनपद चित्रकूट
Share To:

Post A Comment: