यूरिया आदि घातक पदार्थ से दूध बनाने वालों और व्यापार करने वालों पर लगेगा रासुका - मंत्री सिलावट

खाद्य एवं औषधि प्रशासन की बैठक में मंत्री श्री सिलावट ने दिये निर्देश

Kkkन्यूज कटनी- यूरिया आदि घातक पदार्थ मिलाकर सिंथेटिक दूध और ऐसे दूध से बने मावा, पनीर आदि अन्य उत्पाद तैयार करने वालों और इनका व्यापार करने वालों के विरुद्ध रासुका के तहत सख्त कार्यवाही होगी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट ने गत दिनों खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों को कार्यवाही करवाने के निर्देश दिये।भोपाल में विधानसभा के कक्ष में गतदिनों आयोजित बैठक में खाद्य एवं औषधि प्रशासन नियंत्रण रविन्द्र सिंह, संयुक्त नियंत्रक डी0के0 नागेन्द्र एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि सिन्थेटिक दूध और इससे बने अन्य दुग्ध उत्पाद आमजन के स्वास्थ्य के लिये बहुत घातक हैं। मिलावटखोरों को आम आदमी के स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं करने देंगे। उन्होने विभाग के अधिकारियों को कह कि राज्य और जिला स्तर पर सिन्थेटिक दूध बनाने वालों और इसका विक्रय व्यापार करने वालों की धरपकड़ के लिये उड़नदस्ते बनाकर कार्यवाही करें। मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि सभी संभाग के कमिश्नर, जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से एैसे व्यक्तियों के विरुद्ध रासुका जैसे सख्त कानून के तहत कार्यवाही करने के लिये कहा जा रहा है।
 मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन और मिलावटी दूध एवं दुग्ध उत्पादों के बनाने और विक्रय पर नियंत्रण रखने वाले अधिकारियों के विरुद्ध भी मिलावट खोरों पर शिथिलता बरतने अथवा जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं करने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी। मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि यूरिया आदि घातक पदार्थों के मिलावटी सिन्थेटिक दूध, मावा, पनीर आदि मिलने पर मामले हाल ही में प्रकाश में आये हैं, यह अच्छी स्थिति नहीं है।मध्यप्रदेश के सभी जिलों में स्वास्थ्य विभाग की छापेमार कार्यवाही की जा रही है। ग्वालियर चंबल संभाग में कार्यवाही को लेकर सरकार ने आठ सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है। जबलपुर में अमानक खाद्य सामग्री मिलने पर विभाग द्वारा बड़ी कार्यवाही की गई है। तीन बड़े व्यापारियों के लाईसेन्स निरस्त किये गये हैं।

सोनू त्रिपाठी ग्रामीण रिपोर्टर कलयुग की कलम कटनी
Share To:

Post A Comment: