KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

प्रयागराज डफरिन और स्वरूपरानी के चिकित्सा अधीक्षक का वेतन रोकने के जिलाधिकारी ने दिये निर्देश

किसी भी हाल में प्रगति 90 प्रतिशत से कम नहीं होनी चाहिए-जिलाधिकारी, प्रयागराज
अच्छा कार्य करने वाली आशा बहुओं को पुरस्कृत करने के साथ ही कार्य में लापरवाही बरतने वाली आशा बहुओं को नोटिस देकर बाहर करने के निर्देश-जिलाधिकारी  प्रयागराज 
जिलाधिकारी प्रयागराज  भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय के सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक की गयी, जिसमें मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी जी0एस0 वाजेपयी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी-सत्येन्द्र राय सहित जनपद के समस्त डिप्टी सीएमओ एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्साधिकारी मौजूद थे।
जिलाधिकारी ने समीक्षा करते हुए डफरिन और स्वरूपरानी के चिकित्सा अधीक्षक के बैठक में अनुपस्थित होने के कारण उनका वेतन रोकने के निर्देश दिया। करछना में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रगति पर नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी ने स्पष्टीकरण तलब किया तथा स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि 90 प्रतिशत से कम किसी भी दशा में प्रगति स्वीकार नहीं है। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना में लक्ष्य के सापेक्ष कितना किया गया है। कि जानकारी ली तथा जिन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रगति खराब थी, जिनमें मेजा, मऊआइमा, कौड़िहार, सैदाबाद, आदि को कड़ी फटकार लगाते हुए प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिये। इसी क्रम में डिलेवरी स्टेटस के साथ जे0एस0वाई0 बेनिफिशयरी के पेमेंट की स्थिति की जानकारी ली। प्रधानमंत्री सुरक्षा मातृत्व अभियान की प्रगति में कौधियारा और मऊआइमा को फटकार लगायी। उन्होंने परिवार नियोजन, टीकाकरण, वीसीजी, मील्स एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में भ्रमण किये गये आंगनवाड़ी केन्द्रो में स्वास्थ्य परीक्षण किये गये बच्चो की संख्या की जानकारी ली। इसी प्रकार भ्रमण किये गये विद्यालयों में बच्चो के स्वास्थ्य परीक्षण आदि की जानकारी ली। उन्होंने समीक्षा के दौरान आशा बहुओं के पेमेंट आदि की जानकारी ली। मुझे ये शिकायते नहीं मिलनी चाहिए कि थर्मामीटर एवं वेइंग मशीन खराब है तथा जो दवाये एक्सपायरी हो गयी है, उसे निकाल दे तथा जो भी आशा बहुंए जो काम में रूचि नहीं ले रही है उन्हें नोटिस देकर निकाल दें तथा जो अच्छा कार्य कर रही है। उन्हें पुरस्कृत भी किया जायेगा। 
समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जिन-जिन ब्लाकों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रगति कम है, उन्हें चेतावनी के साथ-साथ एक सप्ताह में सुधारने का निर्देश दिया तथा उन्होंने बताया कि जो आम-जनमानस से सम्बन्धित सुविधाये सरकार द्वारा चलायी जा रही है, उसमें कोई भी कोताही कत्तई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। आशा बहुए जो भी कार्यों में रूचि नहीं ले रही है, उन्हें कार्यों में सन्तोषजनक सुधार नहीं कर पाने पर नोटिस देकर बाहर निकालने का निर्देश दिया तथा सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ आम जनमानस तक शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जनसंख्या पखवाड़े के अंतर्गत जिला स्तरीय कार्यशाला का किया गया आयोजन
मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में जनसंख्या पखवाड़े के अंतर्गत जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन माननीय जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी की उपस्थित में आयोजित की गई। कार्यशाला में माननीय जिलाधिकारी द्वारा सभी को निर्देशित किया गया कि पखवाड़े के दौरान कोई भी  किसी भी दशा में निरस्त नही होना चाहिए तथा जिले की तरफ से जो भी सम्भावित लक्ष्य ब्लॉकों को दिए गए हैं उसे पूरा करे।
  जनसख्या स्थिरता पखवाड़ा का पहला चरण चल रहा है ।दूसरा चरण 11 जुलाई से 31 जुलाई तक चलेगा। जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणामों को देखते हुये परिवार नियोजन में पुरुषों की सक्रिय सहभागिता अत्यंत आवश्यक है, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मेजर गिरजा शंकर बाजपेई ने बताया कि प्रयागराज जनपद पिछले चार वर्षो से परिवार नियोजन की सुविधाओं के लिए नंबर वन की पोजीशन पर हैं उन्होंने बताया इस पखवाड़े के दौरान अंतरा के तीन मेगा एफ.डी. एस. एवं पुरुष नसबंदी के 2 मेगा .एफ.डी. एस. का आयोजन किया जायेगा। हर ब्लाक में प्रत्येक सप्ताह एफ.डी.एफ वनसबंदी शिविर का आयोजन होगा एवं जनपद स्तर पर पखवाड़े के दौरान प्रत्येक दिवस में जिला महिला चिकित्सालय में महिला नसबंदी एवं तेज बहादुर सप्रू अस्पताल पुरुष नसबंदी की सेवा निशुल्क उपलब्ध रहेगी वही 11 जुलाई से 31 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा, जिसमें शिविर लगाकर लाभर्थियों को परिवार नियोजन की सुविधाएं दी जाएंगी इस बार पखवाड़े के अंतर्गत 2352 महिला , 483 पुरुष, 6000 पी.पी.आई.यू.सी.डी, आई.यू.सी.डी 7,500 अंतरा, का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं।
इस वर्ष जनसंख्या स्थिरता दिवस की थीम “परिवार नियोजन से निभाए जिम्मेदारी, माँ और बच्चे के साथ की पूरी तैयारी’’ इस कार्यशाला के दौरान सभी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी,उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी, अधीक्षक, उपस्थित रहे। राजकीय ममता विद्यालय में बच्चों का प्रवेश 15 जुलाई से
06 से 17 वर्ष की आयुवर्ग के माइल्ड़ एवं माडरेट श्रेणी के मानसिक मंदित बच्चों को विशेष प्रशिक्षकों द्वारा शिक्षण-प्रशिक्षण की व्यवस्था
दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उ0प्र0 द्वारा संचालित राजकीय ममता विद्यालय, जगदीशपुर चांदन कौडिहार, प्रयागराज में बच्चों का प्रवेश दिनांक 15 जुलाई, 2019 से प्रारम्भ हो रहा है। विद्यालय में 06 से 17 वर्ष की आयुवर्ग के माइल्ड़ एवं माडरेट श्रेणी के मानसिक मंदित बच्चों को विशेष प्रशिक्षकों द्वारा शिक्षण-प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। विद्यालय में जनपद के निवासी बच्चों को अनावासीय एवं गैर जनपद केे बच्चों को आवासीय सुविधा उपलब्ध है। विद्यालय में अध्ययनरत बच्चों को स्कूल बस, यूनिफार्म, पाठ्य सामग्री की निःशुल्क सुुविधा उपलब्ध है।
    राजकीय ममता विद्यालय, प्रयागराज में प्रवेश हेतु इच्छुक अभिभावक दिनांक 15 जुलाई, 2019 से किसी भी कार्यदिवस में सम्बन्धित बच्चे का मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा निर्गत दिव्यांगता प्रमाण पत्र, आधार कार्ड तथा पासपोर्ट साइज के तीन फोटोग्राफ सहित विद्यालय अथवा विकास भवन, प्रयागराज में कक्ष संख्या-17 में सम्पर्क कर सकते हैं। विद्यालय में प्रवेश से सम्बन्धित अन्य विस्तृत जानकारी  मोबाइल पर प्राप्त कर सकते हैं।यह जानकारी उप निदेशक, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, प्रयागराज मण्डल, रामकृष्ण वर्मा ने दी है।



Share To:

Post A Comment: