जिलास्तरीय सतर्कता एवं मॉनीटरिंग समिति का हुआ पुर्नगठन

सोनू त्रिपाठी रिपोर्टर कटनी:-

अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के नियम 1995 के उपनियम 17 के प्रावधान अनुसार अधिनियम के विभिनन उपबधों के कार्यान्वयन, पीडि़त व्यक्तियों को दी गई राहत और पुर्नवास सुविधा तथा संबंधित मामले, अभियान की प्राप्त रिपोर्ट के पुर्नरावलोकन के लिये जिला स्तरीय सर्तकता एवं मॉनीटरिंग समिति का पुर्नगठन किया गया है।कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी शशिभूषण सिंह द्वारा जारी आदेशानुसार कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी की अध्यक्षता में गठित इस समिति में जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण कटनी सदस्य सचिव होंगे। समिति में सांसद खजुराहो एवं शहडोल लोकसभा क्षेत्र, विधायक मुड़वारा, बहोरीबंद, बड़वारा, विजयराघवगढ़ को सदस्य के रुप में नामित किया गया है। समिति के शासकीय सदस्यों में पुलिस अधीक्षक, जिला लोक अभियोजक, अनुसूचित जाति, जनजाति के राजपत्रित अधिकारी सदस्यों में जिला रोजगार अधिकारी डी0के0 पासी, अधीक्षक भू-अभिलेख मायाराम कोल को शामिल किया गया है।समिति में अनुसूचित जाति, जनजाति के गैरसरकारी सदस्यों में विनोद कोल दशरमन,शिवलाल कोल तिलमन, कमलेश ग्राम गनियारी, कुन्दनलाल ग्राम पोंड़ीकला तथा गैर सरकारी संगठनों के भिन्न प्रवर्ग के सदस्यों में मोहन लाल चौधरी अजाक्स अध्यक्ष, राजेश्वरी वानखेड़े, ललित जायसवाल, राजेन्द्र सोंधिया और मिट्ठूलाल जैन को समिति का सदस्य बनाया गया है। जिलास्तरीय सतर्कता एवं मॉनीटरिंग समिति की बैठक तीन माह में एक बार आयोजित होगी।

Share To:

Post A Comment: