शिक्षामित्रों ने काला दिवस मनाया।
माधौगंज (हरदोई)।
समायोजन रद्द होने के दो वर्ष पूरे हुए। मृतक शिक्षामित्रों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए स्कूलों में शोकसभा आयोजित कर गुरुजनों के साथ बच्चों ने शोक मनाया।

ब्लॉक के परिषदीय स्कूलों में तैनात शिक्षामित्रों ने गुरुवार को काला दिवस मनाया। बच्चों ने भी गुरुजनों के साथ मिलकर मृतक शिक्षामित्रों के प्रति संवेदना व्यक्त कर शोकसभाएं आयोजित कीं। प्राथमिक विद्यालय के शिक्षामित्र योगेन्द्र प्रताप सिंह, संतोष यादव, शालिनी सिंह, रोहित तिवारी, मनोज पाल आदि ने बताया कि 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट से सहायक अध्यापक पद पर समायोजित शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द हुआ था। दो वर्ष के अंतराल में प्रदेश के लगभग 1300 लोंगों की अवसाद के चलते मौत हो चुकी है। लगातार हो रही आत्महत्या जैसी घटनाओं पर अभी तक विराम नही लग पाया है। कोर्ट के फैसले के बाद प्रदेश सरकार की ओर से राहत नही मिल पाई है।  मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए काला दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय मुड़ियाखेड़ा में स्कूली शिक्षकों के साथ बच्चों ने शोक जताया। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के ब्लॉक उपाध्यक्ष रामकृष्ण राजपूत ने बताया कि समायोजन रद्द होने के बाद मानदेय भी समय से नही मिल पा रहा है। जिसके कारण शिक्षामित्र परेशान हैं। विषम परिस्थितियों में धैर्य बनाए रखे आत्महत्या जैसे कदम नही उठाना चाहिए।
Share To:

Post A Comment: