Kkkन्यूज जबलपुर- सामाजिक न्याय मंत्री द्वारा मुख्यमंत्री नि:शक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत 47 दृष्टिबाधित छात्र-छात्राओं को लेपटॉप वितरित दिव्यांग छात्रों में प्रतिभा भी है और हौसला भी, बस जरूरत है उन्हें वो सुविधाओं उपलब्ध कराने की जिनकी सहायता से वे भी बदलते वक्त के साथ तेजी से चल सकें । ये उद्गार प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री श्री लखन घनघोरिया ने आज यहां मुख्यमंत्री नि:शक्तजन शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत दृष्टिबाधित छात्र-छात्राओं को लेपटॉप वितरण के लिए आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये । प्रांतीय शिक्षण महाविद्यालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में कलेक्टर श्री भरत यादव भी मौजूद थे। सामाजिक न्याय मंत्री श्री घनघोरिया ने दिव्यांगों को समाज की मुख्यधारा में जोड़ने प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों का उल्लेख करते हुए बताया कि हाल ही में संपन्न हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में दिव्यांग छात्रों को हाथ से चलने वाली ट्राईसिकल के स्थान पर अब मोटराइज्ड ट्राईसिकल देने का निर्णय लिया गया है । श्री घनघोरिया ने इस अवसर पर लेपटॉप पाने वाले दृष्टिबाधित दिव्यांग छात्र-छात्राओं को बधाई दी ।  उन्होंने आशा व्यक्त की लेपटॉप मिलने के बाद से छात्र-छात्रायें अब अपने आपको उपेक्षित महसूस नहीं करेंगे और बेहतर भविष्य के निर्माण के लिए और ज्यादा परिश्रम करेंगे।लेपटॉप वितरण के इस कार्यक्रम को कलेक्टर श्री भरत यादव ने भी संबोधित किया । उन्होंने कहा कि लेपटॉप मिल जाने से दृष्टिबाधित दिव्यांग भी प्रतिस्पर्धा के इस दौर में पीछे नहीं रहेंगे ।  श्री यादव ने बड़ी संख्या में दृष्टिबाधित दिव्यांग विद्यार्थियों को लेपटॉप प्रदान करने की स्वीकृति देने के लिए सामाजिक न्याय मंत्री श्री घनघोरिया का आभार भी माना । कार्यक्रम को नोडल अधिकारी नि:शक्तजन डॉ. रामनरेश पटेल ने भी संबोधित किया ।  इस अवसर पर बताया गया कि मुख्यमंत्री नि:शक्तजन शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में ऐसे 47 दृष्टिबाधित छात्र-छात्राओं को लेपटॉप प्रदान किये गये हैं जो आई.टी.आई. एवं महाविद्यालय में अध्ययनरत हैं । 
सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित एवं पीएसएम की प्राचार्य डॉ. रेखा श्रीवास्तव भी मौजूद थीं ।


Share To:

Post A Comment: