रमेश बर्मन                                 
KKKन्यूज ब्यूरो चीफ 
सिहोरा जबलपुर  

 विद्या का मंदिर जहां सरस्वती और गुरु एक साथ दर्शन होते हैं । मानव जीवन की शुरुआती जीवन का प्रथम मंदिर  विद्यालय होता है । जहां से मानव समाज  बुद्धि , अनुशासित , शुद्ध चरित्र , और संस्कारी , बनकर सभ्य समाज का सर्वश्रेष्ठ सदस्य बन जाता है । सिहोरा ब्लॉक के संकुल केंद्र कुम्ही में गुरु पूर्णिमा के अवसर  पर गुरु सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम में सभी स्कूली छात्र-छात्राऐं  स्कूल परिसर में सामूहिक खड़े होकर समस्त गुरुजनों के समक्ष प्रथम चरण में प्रार्थना किया । और दूसरे चरण में दाहिना हाथ आगे बढ़ाते हुए सभी गुरुजनों के साथ हमेशा अनुशासित , संस्कारी,और सम्मान करने का शपथ लिया । इस तरह कीमती वस्तुएं गुरुजनों को भेंट कर सभी बच्चे गुरुजनों से आशीर्वाद लिया । कार्यक्रम के चलते 11:00 बजे कुम्ही परिसर में प्रभारी प्राचार्य केपी दीवान , प्रधान अध्यापक व्हीपी दहिया , बड़े बाबू रविंद्र तन्तुवाय सहित समस्त स्टाफ पीपल का पौधा लगाकर सभी छात्र छात्राओं को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिक्षा का संदेश दिया और  बताया कि बच्चों को प्रतिदिन स्कूल परिसर में  अनुशासित रहना , मन लगाकर पढ़ाई करना, और आसपास ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाकर वायुमंडल को स्वच्छ रखने की हिदायत दिया , इस कार्यक्रम में पीडी पटेल,  एके मांझी ,रवेंद्र तन्तुवाय , नेहा जैन , विजय यादव , सहित समस्त शिक्षक कार्यक्रम में उपस्थित रहे।



Share To:

Post A Comment: