जिले में उपलब्ध संभावनाओं के अनुरुप औद्योगिक निवेश को किया प्रोत्साहित

Kkkन्यूज कटनी- कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने बुधवार को शहडोल बायपास के किनारे स्थित कटनी जिले के औद्योगिक क्षेत्र लमतरा का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होने औद्योगिक क्षेत्र के उद्योग व्यवसायियों एवं उद्योग संघ के पदाधिकारियों की बैठक लेकर राज्य शासन की औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीतियों की जानकारी दी और जिले में उपलब्ध कच्चे माल और संभावनाओं के अनुरुप औद्योगिक गतिविधियों के विस्तार व उद्योग स्थापित करने की सलाह दी। इस दौरान जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक एस0एन0 पाठक, तहसीलदार मुनौव्वर खान, औद्योगिक संस्था प्रमुख संजय अग्रवाल सहित ए0के0वी0एन0 के अधिकारी भी उपस्थित थे।कलेक्टर श्री सिंह ने लमतरा के औद्योगिक क्षेत्र के भ्रमण के दौरान यूनियन एग्रोटेक फूड प्रोसेसिंग यूनिट, वॉल प्लास्ट (वॉल पुट्टी) निर्माण यूनिट और सेण्ड स्टोन कटिंग एण्ड मैन्युफेक्चरिंग यूनिट का भी निरीक्षण किया। उन्होने यूनियन एग्रोटेक के कार्यालय में औद्योगिक क्षेत्र के व्यवसायियों और उद्योग संघ के प्रतिनिधि और अधिकारियों के साथ बैठक कर राज्य शासन की औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीतियों की जानकारी दी। कलेक्टर ने कहा कि कटनी एक औद्योगिकजिला है। यहां खनिज संसाधन और एग्रोबेस इन्डस्ट्रीज के लिये कच्चा माल प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। उपलब्ध कच्चा माल और संभावनाओं के अनुरुप उद्योग लगाने के सुझाव भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि कटनी जिले में मक्का, स्वीटकॉर्न, औषधीय पौधों की खेती और दलहन की उपलब्धता के दृष्टिगत एग्रोबेस्ड इन्डस्ट्रीज और फूड प्रोसेसिंग यूनिट की स्थापना के लिये भी प्रयास किये जायें।कलेक्टर श्री सिंह ने औद्योगिक क्षेत्र में स्थानीय समस्याओं एवं मूलभूत सुविधाओं के संबंध में भी औद्योगिक प्रतिनिधियों से जानकारी ली तथा निराकरण के संबंध में अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिये। औद्योगिक क्षेत्र के व्यवसायियों ने प्रमुख समस्याओं में विद्युत आपूर्ति में ट्रिपिंग, पेयजल के लिये ओव्हरहेड टैंक की अनुपलब्धता, अतिक्रमण और आवारा पशुओं का विचरण तथा औद्योगिक क्षेत्र के वेस्ट और कचरे के निष्पादन के लिये स्थल की समस्यायें बताई गईं।कलेक्टर ने एकेवीएन के अधिकारियों को ओव्हरहेड टैंक के निर्माण और कचरे के निष्पादन की व्यवस्था के संबंध में निर्देश दिये। उन्होने तहसीलदार को औद्योगिक क्षेत्र से गैर रहवासी अतिक्रमण हटाने और विद्युत कम्पनी के अधिकारियों को विद्युत आपूर्ति संबंधी ट्रिपिंग की समस्या का निराकरण करने को कहा। कलेक्टर ने औद्योगिक क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति की वैकल्पिक छोटी-मोटी जरुरत के लिये सोलर एनर्जी के क्षेत्र में भी पहल करने की सलाह दी।




Share To:

Post A Comment: